स्मृति ईरानी के खिलाफ FB पर पोस्ट करने वाले कर्मचारी के निलंबन पर HC का स्टे
Bilaspur News in Hindi

स्मृति ईरानी के खिलाफ FB पर पोस्ट करने वाले कर्मचारी के निलंबन पर HC का स्टे
बिलासपुर हाईकोर्ट ने नोटिस जारी कर गुरू घासीदास विवि प्रशासन ने इस मसले में जबाव भी मांगा है.

जस्टिस पी. सेम कोशी की कोर्ट ने इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता (Freedom of expression) मानते हुए आबकारी विभाग (Excise Department) में पदस्थ आरक्षक अनुभव तिवारी के निलंबन पर रोक लगा दी है.

  • Share this:
बिलासपुर. छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Union Minister Smriti Irani) के खिलाफ फेसबुक (Facebook) पर पोस्ट करने वाले कर्मचारी के निलंबन (suspension) पर रोक लगा दी है. हाईकोर्ट ने फेसबुक पर विचार रखने को सरकार के खिलाफ टिप्पणी नहीं माना है.

बिलासपुर में जस्टिस पी. सेम कोशी की कोर्ट ने इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता (Freedom of expression) मानते हुए आबकारी विभाग (Excise Department) में पदस्थ आरक्षक अनुभव तिवारी के निलंबन पर रोक लगा दी है. साथ ही शासन को नोटिस भेजकर इस पर जवाब मांगा है. दरअसल, याचिकाकर्ता अनुभव तिवारी ने केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी को लेकर फेसबुक पर एक पोस्ट डाली थी, जिसके बाद आबकारी विभाग ने उसे निलंबित कर दिया था. निलंबन के खिलाफ आरक्षक अनुभव तिवारी ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी.

पूरा मामला



हाईकोर्ट में दाखिल की गई याचिका में अनुभव तिवारी ने बताया था कि वह जांजगीर-चांपा (Janjgir Champa) जिले के बाराद्वार में आबकारी विभाग में आरक्षक के पद पर पदस्थ था. उसने केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी को लेकर फेसबुक पर एक पोस्ट किया था, जिसके बात विभाग ने उस पर कार्रवाई की थी.
फेसबुक-facebook
फेसबुक पोस्ट को लेकर विभाग ने कर्मचारी पर की थी कार्रवाई (सांकेतिक तस्वीर)


सिर्फ अपने विचारों को फेसबुक पर पोस्ट किया था : याचिकाकर्ता

याचिकाकर्ता अनुभव तिवारी ने कोर्ट को बताया कि उसने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की शिक्षा, कबीर जयंती पर शराब पर प्रतिबंध आदि जैसे कई पोस्ट फेसबुक पर किए थे, लेकिन उसकी भाषा शालीन (decent) थी. उसने सिर्फ अपने विचारों को सोशल मीडिया (Social Media) पर रखा था. उसका मकसद किसी की भी भावना को ठेस पहुंचाना बिलकुल नहीं था, फिर भी उस पोस्ट को आधार बनाकर उसे विभाग ने निलंबित कर दिया.

याचिकाकर्ता ने कहा कि फेसबुक एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है, जहां हर कोई अपने विचारों को व्यक्त कर सकता है. इसका ये मलतब नहीं कि वो सरकार के खिलाफ कोई टिप्पणी कर रहा है.

ये भी पढ़ें:- अंतागढ़ टेपकांड के मुख्य आरोपी मंतूराम पवार SIT को देंगे अपना वॉइस सैंपल

ये भी पढ़ें:- व्यापम की सब इंजीनियर भर्ती परिक्षा का नया मेरिज लिस्ट होगा जारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading