रविशंकर यूनिवर्सिटी में इंग्लिश एमए का गोल्ड मेडेल बांटने पर हाई कोर्ट ने लगाई रोक

अदालत ने ईडी और आरोपी को यह निर्देश भी दिया कि वे इस विषय में कुछ खास दस्तावेज जमा करें.

यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह 26 फरवरी को होना है. एमए अंग्रेजी विषय में सर्वाधिक अंक पाने वाली छात्रा ने स्वर्ण पदक के लिए आवेदन किया था.

  • Share this:
बिलासपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के पंडित रविशंकर शुक्ला विश्वविद्यालय (Pandit Ravi Shankar Shukla University) में होने वाले दीक्षांत समारोह में हाई कोर्ट ने एमए अंग्रेजी (English) विषय पर गोल्ड मेडेल (Gold Medal) बांटने पर रोक लगा दिया है. यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह 26 फरवरी को होना है. एमए अंग्रेजी विषय में सर्वाधिक अंक पाने वाली छात्रा ने स्वर्ण पदक के लिए आवेदन किया था. ऑटोनॉमस कॉलेज की होने के कारण उसका आवेदन यूनिवर्सिटी ने निरस्त कर दिया. इस पर छात्रा ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की.

बिलासपुर हाई कोर्ट (Bilaspur High Court) में मामले की सुनवाई के बाद जस्टिस गौतम भादुड़ी की बेंच ने विषय के पदक वितरण पर रोक लगा दिया है. मामले की अगली सुनवाई 22 अप्रैल को होगी. रायपुर की ईशा बेनर्जी अंग्रेजी विषय में एमए की हैं. उन्होंने 1800 में 1400 अंक अर्जित की. पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ने दीक्षांत समारोह की घोषणा की. इस पर ईशा ने आवेदन के लिए 300 रुपए खर्च करके आवेदन जमा किया, लेकिन प्रबंधन ने इस आवेदन को निरस्त कर दिया.

..तो पहुंची कोर्ट
यूनिवर्सिटी ने वजह बताया कि ईशा ऑटोनॉमस कॉलेज की छात्रा हैं. स्वर्ण पदक का आवेदन निरस्त होने पर ईशा ने अधिवक्ता मलय श्रीवास्तव के माध्यम से हाई कोर्ट में याचिका दायर की. कोर्ट ने मामलो को सुनने के बाद 26 फरवरी को आयोजित दीक्षांत समारोह में एमए अंग्रेजी विषय के स्वर्ण पदक आबंटन पर रोक लगा दिया है. साथ ही रजिस्ट्रार को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है.

ये भी पढ़ें:
CAA-NPR के विरोध में उतरे छत्तीसगढ़ के आदिवासी, बीजेपी को हो सकता है नुकसान

मामूली बात पर भी पति-पत्नी पहुंच रहे कोर्ट! छत्तीसगढ़ की अदालतों में पेंडिंग है 2196 मैरिज पिटीशन

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.