आयुष्मान भारत योजना के ACEO की ज्वाइनिंग पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक, ये है पूरा मामला

राज्य शासन और नियुक्त अधिकारी को नोटिस जारी कर तीन सप्ताह के भीतर जवाब मांगा भी मांगा गया है.

Pankaj Gupte | News18 Chhattisgarh
Updated: July 27, 2019, 12:25 PM IST
आयुष्मान भारत योजना के ACEO की ज्वाइनिंग पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक, ये है पूरा मामला
कोर्ट के आदेश में कहा गया कि हाईकोर्ट की अनुमति के बगैर ज्वाइनिंग नहीं होगी (फाइल फोटो)
Pankaj Gupte
Pankaj Gupte | News18 Chhattisgarh
Updated: July 27, 2019, 12:25 PM IST
हाईकोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए आयुष्मान भारत योजना के एसीईओ की नियुक्ति पर रोक लगा दी है. कोर्ट के आदेश में कहा गया कि हाईकोर्ट की अनुमति के बगैर ज्वाइनिंग नहीं होगी. राज्य शासन और नियुक्त अधिकारी को नोटिस जारी कर तीन सप्ताह के भीतर जवाब मांगा भी मांगा गया है.

ये है पूरा मामला

आयुष्मान भारत योजना के तहत राज्य नोडल एजेंसी में 11 जून 2019 को विजेंद्र कटरे की नियुक्ति की गई. अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता और अनुभव नहीं होने के बावजूद की गई नियुक्ति को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता उचित शर्मा ने शिकायत भी की थी, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई. उचित शर्मा ने एडवोकेट विकास दुबे के जरिए हाईकोर्ट में अधिकार पृच्छा याचिका प्रस्तुत की है.

इस याचिका में बताया गया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत एडिशनल सीईओ के पद पर नियुक्ति के लिए एमबीबीएस और एमडी (कम्युनिटी मेडिसिन) की डिग्री होना अनिवार्य है. एमबीबीएस होने के साथ ही पब्लिक हैल्थ मैनेजमेंट में 10 साल का अनुभव होना चाहिए. कटरे के पास डेयरी टेक्नाेलॉजी में ग्रेजुएशन की योग्यता है. राज्य शासन ने नियमों की अनदेखी करते हुए उनकी नियुक्ति कर दी है. याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस पी सैम कोशी की बेंच ने कटरे की ज्वाइनिंग पर रोक लगा दी है.

ये भी पढ़ें

बेटियों ने निभाई जिम्मेदारी: मुखाग्नि देकर पूरी की अपने पिता की अंतिम इच्छा

PM मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में करप्शन, घूसखोर खा गए घर बनाने का पैसा
Loading...

 
First published: July 27, 2019, 12:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...