इस मामले में गवाही देने पहुंचे होम मिनिस्ट्री के ज्वाइंट सेक्रेट्री, लेकिन नहीं बनी बात

बिलासपुर हाई कोर्ट में गुरुवार को होम मिनिस्ट्री के ज्वाइंट सेक्रेट्री प्रकाश चंद्र मिश्रा विधायक अमित जोगी के जन्म स्थान और नागरिकता तय करने गवाही के लिए पहुचे थे.

News18 Chhattisgarh
Updated: May 17, 2018, 7:57 PM IST
इस मामले में गवाही देने पहुंचे होम मिनिस्ट्री के ज्वाइंट सेक्रेट्री, लेकिन नहीं बनी बात
सांकेतिक फोटो.
News18 Chhattisgarh
Updated: May 17, 2018, 7:57 PM IST
बिलासपुर हाई कोर्ट में गुरुवार को होम मिनिस्ट्री के ज्वाइंट सेक्रेट्री प्रकाश चंद्र मिश्रा विधायक अमित जोगी के जन्म स्थान और नागरिकता तय करने गवाही के लिए पहुचे थे. पर कोर्ट का समय समाप्त हो जाने के कारण उनकी गवाही नहीं हो सकी. अब प्रकाश मिश्रा को गवाही देने के लिए 28 जून को दोबारा बिलासपुर हाई कोर्ट आना पड़ेगा.

बता दें कि बीजेपी की समीरा पैकरा ने मरवाही विधायक अमित जोगी के 3 अलग-अलग जन्म स्थान जिसमें अमेरिका के टेक्सास, मरवाही के सारबहरा और एमपी के इंदौर में जन्म होने को और उनकी जाति को हाई कोर्ट में चुनाव याचिका लगा चुनौती दी है. इसमें कहा गया है कि क्या कोई एक इंसान 3 अलग-अलग जगहों में जन्म ले सकता है?

साथ ही समीरा ने अमित जोगी के जाति को भी चैलेंज किया है, जिसमें कहा गया है कि अमित जोगी आदिवासी नहीं है. आदिवासी बताकर मरवाही की जनता को धोखा दे रहे हैं. अमित जोगी की नागरिकता को तय करने समीरा ने होम मिनिस्ट्री के सेक्रेट्री को गवाही के लिए बुलाना उचित समझा और कोर्ट में इसके लिए आवेदन भी दिया था.

कोर्ट ने समीरा के आवेदन को स्वीकार कर लिया था. साथ ही समीरा को कोर्ट के द्वारा छुट दी गई थी कि वे बाई हैण्ड नोटिस को होम मिनिस्ट्री के ज्वाइंट सेकेट्री को सीधे जाकर दे सकती हैं. समीरा ने पिछले सप्ताह ज्वाइंट सेकेट्री को बाई हैण्ड नोटिस सर्विस कर दिया था. आज नोटिस के जवाब में होम मिनिस्ट्री के ज्वाइंट सेक्रेट्री प्रकाश चंद्र मिश्रा गवाही देने के लिए कोर्ट पहुचे थे.
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Chhattisgarh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर