IAS बनना चाहती है राष्ट्रपति की 'चहेती' ये गोल्ड मेडलिस्ट, रामनाथ कोविंद ने दिया नया नाम
Bilaspur News in Hindi

IAS बनना चाहती है राष्ट्रपति की 'चहेती' ये गोल्ड मेडलिस्ट, रामनाथ कोविंद ने दिया नया नाम
गोल्ड मेडलिस्ट क्वीनी यादव का राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सम्मानित किया.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के गुरु घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय (Guru Ghasidas Central University) में सोमवार को आयोजित दीक्षांत समारोह (Convocation) कई मायनों में खास रहा.

  • Share this:
बिलासपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के गुरु घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय (Guru Ghasidas Central University) में सोमवार को आयोजित दीक्षांत समारोह (Convocation) कई मायनों में खास रहा. विश्वविद्यालय के इस अष्टम दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बतौर मुख्य अतिथि थे. वैसे राष्ट्रपति के हाथों मेडेल पाना सभी मेडलिस्ट के लिए खास था, लेकिन उनमें से एक ऐसी गोल्ड मेडलिस्ट भी थी, जो खुद राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद की चहेती हो गई. अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने विशेष तौर पर इस गोल्ड मेडिलिस्ट का न सिर्फ नाम लिया. बल्कि उसे नया नाम भी दिया.

केन्द्रीय विश्वविद्यायल बीएससी ऑनर्स, गणित की छात्रा क्वीनी यादव को उनकी प्रतिभा के लिए दो गोल्ड मेडेल दिए गए. क्वीनी यादव को विश्वविद्यालय में सभी संकायों में से सर्वाधिक अंक प्राप्त करने के लिये गुरू घासीदास पदक से भी नवाजा गया. क्वीनी ने अपने समूह में सबसे ज्यादा 94.49 फीसदी अंकों के साथ मेरिट लिस्ट में पहले नंबर पर रहीं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- 'स्वर्ण पदक प्राप्त करने वाले में 74 में बेटियों की संख्या 44 है. 6 बेटियों ने 7 मेडल हासिल किए.'

Chhattisgarh, news
राष्ट्रपित रामनाथ कोविंद ने टपर्स को सम्मानित किया.




दिया नया नाम



राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- 'दो मेडल प्राप्त करने के बाद छात्रा क्वीनी यादव अब क्वीनी नहीं हैं, बल्कि ट्विन यादव कहलाएंगी. राष्ट्रपति ने कहा कि बेटियां हर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सकती हैं. नए भारत की एक तस्वीर है जो आज हम सब बेटियों के माध्यम से देख रहे हैं. शैक्षिक जीवन में आप सबको सफलता प्राप्त हुई है, उसमें माता-पिता शिक्षक की महत्वपूर्ण भूमिका है. '

..तो मंजिल मिल ही जाती है
गोल्ड मेडलिस्ट क्वीनी यादव ने न्यूज 18 से कहा कि कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उन्हें राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित किया जाएगा. मैं आईएएस बनना चाहती हूं. इसके लिए यूपीएसएसी की तैयारी कर रही हूं. मेहनत पर भरोसा रहता है तो मंजिल मिल ही जाती है. कोरबा जिले के कुशमुंडा की रहने वाली क्वीनी के पिता अरुण यादव व्यावसायी हैं. उनकी इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान है. मां उषा यादव एक निजी स्कूल में शिक्षिका हैं.

इन्हें भी मिल गोल्ड मेडल
दीक्षांत समारोह में क्वीनी यादव बीएससी ऑनर्स गणित 94.49 प्रतिशत अंक, अर्पिता नायक एमएससी जू-लॉजी 92.3 प्रतिशत अंक, कुमारी चंद्रिका बीएससी ऑनर्स भौतिक शास्त्र 92 प्रतिशत अंक के साथ गोल्ड मेडलिस्ट रहीं. इनके अलावा दबारून दास भौमिक बीटेक मैकेनिकल 90.1 प्रतिशत अंक, किशोर कुमार कोठारी एमए अर्थशास्त्र 90.1 प्रतिशत अंक, कुमारी पूजा पटेल बीकॉम ऑनर्स 90 प्रतिशत अंक, विनोद कुमार खुंटे एमलिब 89.8 प्रतिशत अंक, कुमारी आयुषी सिंह डीफार्मा 88.1 प्रतिशत अंक, कुमारी माधुरी मरकाम बीकॉम एलएलबी 83 प्रतिशत अंक के लिए गोल्ड मेडल मिला.

ये भी पढ़ें:
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की CM भूपेश बघेल की तारीफ, बेटियों के लिए कही ये बड़ी बात

CG Board Exam: परीक्षा के लिए जगाने खोला दरवाजा तो कमरे में फंदे पर लटकी मिली 12वीं की छात्रा 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading