रेलवे मजदूर कांग्रेस विवाद में हाईकोर्ट ने दिए जल्‍द बैठक कराने के आदेश

छत्‍तीसगढ़ हाईकोर्ट ने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मजदूर कांग्रेस के वैध कार्यकारिणी सदस्यों की उपस्थित में जल्द से जल्द वर्किंग कमेटी की बैठक कराने का आदेश दिया है.

Pankaj Gupte | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2018, 11:27 PM IST
रेलवे मजदूर कांग्रेस विवाद में हाईकोर्ट ने दिए जल्‍द बैठक कराने के आदेश
सांकेतिक तस्‍वीर.
Pankaj Gupte
Pankaj Gupte | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2018, 11:27 PM IST
छत्‍तीसगढ़ हाईकोर्ट ने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मजदूर कांग्रेस के वैध कार्यकारिणी सदस्यों की उपस्थित में जल्द से जल्द वर्किंग कमेटी की बैठक कराने का आदेश दिया है. इसके साथ ही मामले को लेकर दाखिल याचिका को भी कोर्ट ने निराकृत कर दिया है.

दरअसल दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मजदूर कांग्रेस में दो गुट हो गए है. युवाओं का गुट यूनियन में सेवानिवृत्‍त कर्मचारियों को पद से हटाने की मांग कर रहा है. यूनियन के 68 कार्यकारिणी सदस्यों में से 41 ने बगावत कर रजिस्ट्रार ट्रेड यूनियन छत्तीसगढ़ शासन में परिवाद पेश किया था. इसमें विवादित मुद्दों के निराकरण के लिए कार्यकारिणी के वैध सदस्यों की वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाकर चुनाव करने की मांग की गई थी. रजिस्ट्रार ट्रेड यूनियन ने 4 जुलाई 2017 को दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य अधिकारी को 15 दिवस के अंदर बैठक बुलाने का आदेश दिया था.

रजिस्ट्रार के आदेश का पालन न होने पर विजय अग्निहोत्री, आरके धल और अन्य ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की. हाईकोर्ट जस्टिस पी सेम कोशी ने आदेश में कहा कि यूनियन में दो ग्रुप हो गए हैं. इनके मध्य विवाद है, जिसे लेकर रजिस्ट्रार ने पहले ही आदेश पारित किया है. कोर्ट ने मामले में रजिस्ट्रार ट्रेड यूनियन को वैध कार्यकारिणी सदस्यों की उपस्थित में जल्द से जल्द वर्किंग कमेटी की बैठक कराने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही मामले को निराकृत कर दिया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर