लाइव टीवी

मीसाबंदी की विधवा को मिलेगा आधा पेंशन, हाईकोर्ट का फैसला
Bilaspur News in Hindi

Pankaj Gupte | News18 Chhattisgarh
Updated: January 13, 2020, 1:58 PM IST
मीसाबंदी की विधवा को मिलेगा आधा पेंशन, हाईकोर्ट का फैसला
कोर्ट के इस फैसले को काफी अहम माना जा रहा है. (File Photo)

मीसा कानून के तहत जेल जाने वालों और उनकी मृत्यु के बाद पत्नी को पेंशन दिए जाने का है प्रावधान.

  • Share this:
बिलासपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisagrh) की बिलासपुर हाईकोर्ट (Bilaspur High court) ने एक बड़ा फैसला दिया है. एक केस में कोर्ट ने मीसाबंदी (Misabandi) की विधवा को आधा पेंशन (Pension) देने का आदेश दे दिया है. कहा जा रहा है कि ये राज्य का पहला मामला होगा जिसमें कोर्ट ने मीसाबंदी की विधवा के पक्ष में आदेश दिया है. मालूम हो कि बिलासपुर के मीसाबंदी की मृत्यु के बाद उनकी पत्नी को आधा पेंशन मिलता था. राज्य शासन ने जनवरी 2019 से पेंशन बंद कर दिया है. मीसा कानून के तहत जेल जाने वालों और उनकी मृत्यु के बाद पत्नी को पेंशन दिए जाने का है प्रावधान. अब कोर्ट के इस फैसले को काफी अहम माना जा रहा है.

दायर हुई थी याचिका

राज्य सरकार द्वारा पेंशन बंद किए जाने के खिलाफ बिलासपुर के मीसाबंदी की विधवा जिसे आधा पेंशन मिल रहा था उसने याचिका दायर किया था. हाईकोर्ट जस्टिस पी सेम कोशी के सिंगल बेंच ने मीसाबंदी की विधवा के पक्ष में फैसला सुनाते हुए उनके रोके गए सारे पेंशन को राशि एरियस के साथ तत्काल देने का बड़ा आदेश दिया है. मीसाबंदी की विधवा के द्वारा दायर यह राज्य का पहला मामला था. ऐसा माना जा रहा है कि अब बाकी विधवा पेंशन पाने वालों के लिए भी रास्ता साफ हो गया है.

बता दें की इमरजेंसी के समय तत्कालीन भाजपा सरकार ने मीसाबंदियों के पेंशन की व्यवस्था की थी. इसके तहत मीसाबंदियों को पेंशन मिलते आ रहा था. इधर अभी नई कांग्रेस सरकार ने मीसाबंदियों की समीक्षा और भौतिक सत्यापन का आदेश जारी करते हुए जनवरी में पेंशन को रोक दिया है. पिछले 9 माह से पेंशन नहीं मिलने से परेशान मीसाबंदियों ने हाईकोर्ट की शरण ली है. एक के बाद एक मीसाबंदियों की याचिका पर हाईकोर्ट ने उनके रोके गए पेंशन को दिए जाने का आदेश दिया था. 4 दिनों पूर्व बिलासपुर के ही 28 मीसाबंदियों को हाईकोर्ट ने सुनवाई के बाद बड़ी राहत देते हुए उनके रोके गए सारे पेंशन की राशि तत्काल देने का बड़ा आदेश दिया था. दो दिन पूर्व दुर्ग के 38 मीसाबंदियों को भी हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली थी और अब विधुवा पेंशन का मामला लगा था.

 

ये भी पढ़ें: 

रेप के आरोपी ओपी गुप्ता के नाम होटल और रिसॉर्ट, अवैध प्रॉपर्टी के जांच की मांग 16 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में रहेगा रेप का आरोपी ओपी गुप्ता, फास्ट ट्रैक कोर्ट का फैसला 



अभिषेक मिश्रा हत्याकांड की सुनवाई पूरी, 5 साल बाद कोर्ट सुना सकता है बड़ा फैसला  

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिलासपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 1:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर