लाइव टीवी

चोरी के जेवरात बेचने की कोशिश कर रहे थे मां-बेटे, पुलिस ने पकड़ा तो किया बड़ा खुलासा
Bilaspur News in Hindi

Sanjay Manikpuri | News18 Chhattisgarh
Updated: March 17, 2020, 6:15 PM IST
चोरी के जेवरात बेचने की कोशिश कर रहे थे मां-बेटे, पुलिस ने पकड़ा तो किया बड़ा खुलासा
लेक्चरर नियुक्ति घोटाले में सितम्बर 2019 में सीबीआई ने 69 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी (प्रतीकात्मक फोटो)

इस मामले में संदेह होने पर पुलिस ने दीपक और उसकी मां चंपा बाई को थाने बुलाकर पूछताछ की.

  • Share this:
बिलासपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बिलासपुर (Bilspur) जिले में चोरी (Thief) की 4 घटनाओं को अंजाम देने वाले मां-बेटे और दो खरीददार को सरकंडा पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आरोपियों से सोने-चांदी के आभूषण, मोबाइल, बाइक सहित 5 हजार नगद समेत करीब 6 लाख का सामान बरामद हुआ है. दरअसल, सरकंडा क्षेत्र में लगातार हो रही चोरी को लेकर पुलिस (Police) अपराधियों की तलाश कर रह थी. इसी दौरान उन्हें मुखबिर से पता चला कि मोपका में रहने वाला दीपक डहरिया और उसकी मां चंपा बाई कुछ सोने-चांदी के जेवर बेचने के लिए ग्राहक तलाश कर रही है. इस मामले में संदेह होने पर पुलिस ने दीपक और उसकी मां चंपा बाई को थाने बुलाकर पूछताछ की.

पुलिस  पूछताछ में हुआ ये खुलासा

पुलिस पूछताछ में दोनों मां-बेटे टूट गए और उन्होंने बताया कि अक्टूबर और नवंबर 2019 को अपने ही घर के पास कॉलोनी में रहने वाले गीता शर्मा के मोपका रोड स्थित मकान में उन्होंने चोरी की थी. चोरी के सामान को आरोपियों ने घोंघाडीह गनियारी कोटा में रहने वाले अपने रिश्तेदार संत कुमार टंडन को 30 हजार रुपये में बेच दिया था. इतना ही नहीं उन्होंने तीन सोने के लॉकेट वाले नेकलेस को भी अपने ही परिचित परसदा मस्तूरी के पास रहने वाले अशोक सूर्यवंशी को 12 हजार रुपये में बेचा था.



ऐसे गिरफ्तार हुए आरोपी



चोरी के पैसे से मां-बेटे ने एक बजाज पल्सर बाइक खरीद ली. वहीं बचे हुए जेवरात को भी चंपा बाई और दीपक डहरिया धीरे-धीरे बेचने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन इसी बीच दोनों पुलिस के हत्थे चढ़ गए. पुलिस ने चोरी की रकम से खरीदी गई बाइक और नगदी 5 हजार रुपये के अलावा बड़ी संख्या में सोने चांदी के जेवर बरामद किया है. इस मामले में दोनों मुख्य आरोपी के अलावा खरीददार अशोक सूर्यवंशी और संत कुमार टंडन को भी गिरफ्तार कर लिया है.

हुआ ये खुलासा

कार्रवाई के दौरान पूछताछ में यह खुलासा भी हुआ कि दीपक डेहरिया 9 मार्च 2020 को रामकृष्ण कॉलोनी सरकंडा में रहने वाले राजेश कुमार पांडे के सूने मकान में भी चोरी करने घुसा था. जहां से उसने अलमारी में रखे 5 जोड़ी चांदी के पायल, कड़ा ,बिछिया सोने का झुमका सोने की बाली समेत कई तरह के जेवरात चोरी किए थे जिसे उसने मोपका कुटी पारा रोड के पास एक नर्सरी में गड्ढा खोदकर दबा दिया था.  पुलिस ने मौके पर ले जाकर उस चोरी के जेवरात को भी बरामद कर लिया है. इस मामले में मुख्य आरोपी दीपक उर्फ फासो डहरिया के साथ उसकी मां चंपाबाई और खरीददार अशोक सूर्यवंशी संत कुमार टंडन और रामनिवास उर्फ गुड्डू यादव को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

ये भी पढ़ें: 

17 मार्च तक रायपुर के महामाया मंदिर में नहीं जलेगी अगरबत्ती, पुजारी ने बताई ये वजह 

 

शिवनाथ नदी में फेंकी गई मरी मुर्गी, अंडे और चूजे, 72 घंटे बाद भी नहीं हुई सफाई 



Corona virus की दहशत के बीच बस्तर में सामूहिक विवाह की तैयारी, राशि लैप्स होने का डर 
First published: March 17, 2020, 6:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading