Home /News /chhattisgarh /

ट्रेन में रिश्तेदार को छोड़ने आए शख्स को अचानक होने लगी खून की उल्टी, RPF जवान ने बचाई जान

ट्रेन में रिश्तेदार को छोड़ने आए शख्स को अचानक होने लगी खून की उल्टी, RPF जवान ने बचाई जान

बिलासपुर रेलवे स्टेशन से शख्स को आनन-फानन में अस्पताल पहुंचाया गया.

बिलासपुर रेलवे स्टेशन से शख्स को आनन-फानन में अस्पताल पहुंचाया गया.

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर रेलवे स्टेशन (Bilaspur Railway Station) पर ड्यूटी कर रहे जवान की तत्परता से एक शख्स की जान बच गई. अपने रिश्तेदार को छोड़ने आए शख्स को अचानक खून की उल्टी होने लगी. आरपीएफ (RPF) जवान ने शख्स को तत्काल अस्पताल पहुंचाने की कवायद शुरू की. समय रहते शख्स को अस्पताल पहुंचाया गया, जिससे उसकी जान बच गई.

अधिक पढ़ें ...

    बिलासपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बिलासपुर रेलवे जंक्शन (Bilaspur Railway Junction) के प्लेटफार्म नंबर-4 पर उस वक्त हड़कंप मच गया, जब एक शख्स को लोगों ने खून की उल्टी करते देखा. शख्स अपने रिश्तेदार को ट्रेन में छोड़ने के लिए स्टेशन आया था. खूनी की उल्टी के दौरान ही शख्स बेहोश हो गया. इसी दौरान प्लेटफार्म नंबर-4 पर ही ड्यूटी कर रहे रेलवे पुलिस फोर्स (RPF) के आरक्षक समलेश कुमार यादव की नजर उस शख्स पर पड़ी, आरक्षक ने तत्काल शख्स को उठाया और कूली और अन्य लोगों की मदद से अस्पताल पहुंचाया. चिकित्सकों का कहना है कि थोड़ी और देर होती तो शख्स की जान भी जा सकती थी.

    आरपीएफ बिलासपुर के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋषि कुमार शुक्ला ने बताया कि जवान की तत्परता से शख्स की जान बचाई जा सकी. रेलवे स्टेशन बिलासपुर के प्लेटफार्म नंबर-2 पर बीते 7 नवंबर को दोपहर करीब 1:30 बजे नरेंद्र शर्मा पुत्र जयंत शर्मा निवासी पता चिंगराजपारा प्रभात चौक बिलासपुर को खून की उल्टी होने लगी. अचानक मुह से खून  की उल्टी करते हुए नरेन्द्र गिरा, जिसे तुरंत ऑन ड्यूटी रेलवे सुरक्षा बल स्टाफ आरक्षक समलेश कुमार यादव द्वारा उठाया गया और अन्य यात्रियों की मदद से  तुरंत  आन डयूटी स्टेशन मास्टर के पास ले जाया गया.

    108 की मदद से पहुंचाया गया अस्पताल
    शुक्ला ने बताया कि 108 पर फोन कर एम्बुलेंस में बैठाकर नरेन्द्र मो सिम्स हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां पर इमरजेंसी में उसका इलाज कराया गया. जब नरेन्द्र को अस्पताल पहुंचाया गया तो उसका ऑक्सीजन लेवल 48 पाया गया था और आधे घंटे बाद 73 हुआ कुछ देर बाद 86 हुआ फिर डॉक्टर द्वारा बोला गया कि अगर थोड़ा देर और बिलंब होता तो बहुत ज्यादा दिक्कत होती, पर डॉक्टर द्वारा कुछ देर इलाज कर रायपुर के लिए रेफर कर दिया गया है. नरेन्द्र के पिता ने बताया कि अभी घर से अपने किसी रिश्तेदार को ट्रेन में बैठाने गया था.

    Tags: Bilaspur news, Chhattisgarh news, Indian railway

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर