Home /News /chhattisgarh /

मनरेगा में 40 करोड़ का नहीं हुआ भुगतान

मनरेगा में 40 करोड़ का नहीं हुआ भुगतान

बिलासपुर जिला में एक ओर कई ब्लाक किसान सुखे की मार झेल रहा है. तो कही मनरेगा मजदूर पूराना भुगतान नहीं होने के कारण अपनी किस्मत को कोस रहे है और अपने पेट के खातिर एक बार फिर पलायन करने को मजबूर है.

बिलासपुर जिला में एक ओर कई ब्लाक किसान सुखे की मार झेल रहा है. तो कही मनरेगा मजदूर पूराना भुगतान नहीं होने के कारण अपनी किस्मत को कोस रहे है और अपने पेट के खातिर एक बार फिर पलायन करने को मजबूर है.

बिलासपुर जिला में एक ओर कई ब्लाक किसान सुखे की मार झेल रहा है. तो कही मनरेगा मजदूर पूराना भुगतान नहीं होने के कारण अपनी किस्मत को कोस रहे है और अपने पेट के खातिर एक बार फिर पलायन करने को मजबूर है.

बिलासपुर जिला में एक ओर कई ब्लाक किसान सुखे की मार झेल रहा है. तो कही मनरेगा मजदूर पूराना भुगतान नहीं होने के कारण अपनी किस्मत को कोस रहे है और अपने पेट के खातिर एक बार फिर पलायन करने को मजबूर है.

मजदूर और किसानों की समस्या को देखते हुए जिला पंचायत सीईओ ने अब मजदूरों को गांव में ही काम दिलाने के लिए पहल की है. गांव विकास मेम आने वाली गौढ़ खनिज के साथ मूलभूत की राशि से शौचालय निर्माण करने की मंजूरी दी है.

जिला पंचायत सीईओ के मुताबिक 40 करोड़ रुपए का भूगतान अभी लंबित है और एसे में मजदूरों को काम दिलाने के लिए शौचालय की उपयोगिता तय करने के लिए शासन का मुंह ताकने के बजाए अब ग्राम पंचायतों को आत्म निर्भर बनाने में जुटे है. जिससे मजदूरों को काम और शौचालय निर्माण में भी गति आएगी.

जिला पंचायत सीईओ ने गौढ़ खनिज और मूलभूत की राशि का उपयोग शौचालय निर्माण में करने के बाद 2 महीने में 64 करोड़ की राशि से 20 हजार शौचालय बनाने की योजना बनाई है.

वहीं शौचालय के निर्माण के बाद उपयोगिता प्रमाण पत्र मिलने पर शौचालय निर्माण में खर्च होने वाली राशि को शासन से मिलने पर ग्राम पंचायत को लौटाने की भी योजना बनाई है.

Tags: Bilaspur news, Chhattisgarh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर