तेलंगाना में बंधक बनाए गए मजदूरों के मामले में लगी याचिका, कोर्ट ने ठेकेदार से मांगा जवाब

पिछले सुनवाई में शासन का जवाब प्रस्तुत हुआ था जिसमे कहा गया कि जानकारी मिलने पर उन्हें छुड़ा लिया गया है.

Pankaj Gupte | News18 Chhattisgarh
Updated: July 25, 2019, 4:07 PM IST
तेलंगाना में बंधक बनाए गए मजदूरों के मामले में लगी याचिका, कोर्ट ने ठेकेदार से मांगा जवाब
कोर्ट ने ठेकेदार से जवाब तलब किया है. (Demo pic)
Pankaj Gupte
Pankaj Gupte | News18 Chhattisgarh
Updated: July 25, 2019, 4:07 PM IST
बिलासपुर के मस्तूरी में रहने वाले 67 मजदूरों को तेलंगाना ले जाकर बंधुआ मजदूर के रूप में बंधक बनाए जाने के मामले में हाईकोर्ट ने एक अहम फैसला सुनाया है. जानकारी के मुताबिक कमल सुबोध ने हाईकोर्ट में इस मामले को लेकर जनहित याचिका लगाई थी. गुरुवार को सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने ईंट भठ्ठे के मालिक से जवाब मांगा है. पिछले सुनवाई में शासन का जवाब प्रस्तुत हुआ था जिसमे कहा गया कि जानकारी मिलने पर उन्हें छुड़ा लिया गया है.

हाईकोर्ट ने दिया ये निर्देश

इस मामले में शासन के जवाब पर याचिकाकर्ता के अधिवक्ता रजनी सोरेन की ओर से तर्क प्रस्तुत करते हुए कहा गया कि मजदूरों को आकर्षक वेतन देने के बहाने तेलंगाना ले जाया गया था. पर उन्हें वहां ले जाने के बाद उनके साथ मारपीट की जा रही थी, उन्हें अपने परिवार से सम्पर्क नहीं करने दिया जा रहा था और उन्हें बंधक बना लिया गया था. उनमें से ही कुछ मजदूर युवक 5 महीने पहले वहां से भागकर आए थे. शासन की ओर से कहा जा रहा है कि उन्हें छुड़ा लिया गया है. पर उन छुड़ाए गए मजदूरों के पुनर्वास की व्यवस्था करनी चाहिए और दोषियों के पर आपराधिक प्रकरण चलना चाहिए.

आपको बता दें की मजदूरों के बंधक बनाए जाने का ये पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी मजदूरों को आकर्षक वेतन देने का लालच दे कर उन्हें दूसरे प्रदेशों में ले जाया गया है.  जानकारों के मुताबिक मनरेगा में सही काम न मिलने के कारण मजदूर दूसरे प्रदेशों में पलायन करने पर मजबूर हो रहे है. योजना तो अच्छी है पर योजना के संचालन में लगातार गड़बड़ी उजागर होता रहा है.

ये भी पढ़ें: 

बेटी के एनकाउंटर के बाद बौखलाया नक्सली कमांडर विनोद, नजरबंद कर ग्रामीणों की हो रही पिटाई! 

मुनाफे के लिए जानलेवा मिलावट का खेल, मध्यप्रदेश से पहुंच रही नकली खाद्य सामग्री
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिलासपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 4:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...