रेप पीड़िता ने खुद की अपनी पैरवी, हाई कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला

बिलासपुर हाई कोर्ट ने आज सुनवाई के बाद मामले के फैसले को सुरक्षित रख लिया है. अब मामले में कभी भी फैसला आ सकता है.

Pankaj Gupte | News18 Chhattisgarh
Updated: August 8, 2019, 1:25 PM IST
रेप पीड़िता ने खुद की अपनी पैरवी, हाई कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला
छत्तीसगढ़ के अधिकांश अधिवक्ताओं द्वारा एडवोकेट्स वेलफेयर फंड के अधिनियम के तहत जारी किए गए टिकट का वकालतनामा में उपयोग नहीं किया जा रहा है.
Pankaj Gupte
Pankaj Gupte | News18 Chhattisgarh
Updated: August 8, 2019, 1:25 PM IST
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर हाई कोर्ट में दुष्कर्म पीड़िता द्वारा दायर की गई पिटीशनर इन परसर याचिका पर गुरुवार को फिर से सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान आज हाई कोर्ट जस्टिस आरसीएस सामन्त के सिंगल बैंच में दुष्कर्म पीड़िता ने खुद पैरवी की. पिछली सुनवाई में हाई कोर्ट में पीड़िता ने आरोपी के जमानत को निरस्त करने आवेदन प्रस्तुत किया था, जिस पर हाई कोर्ट ने आरोपी लालवानी को अपने ओरिजनल दस्तावेज के साथ उपस्थित होने का आदेश दिया था.

बिलासपुर हाई कोर्ट ने आज सुनवाई के बाद मामले के फैसले को सुरक्षित रख लिया है. अब मामले में कभी भी फैसला आ सकता है. याचिकाकर्ता एवं पिटीशनर इन परशन दुष्कर्म पीड़िता के अनुसार पिछले 28 जून की सुनवाई में हाई कोर्ट जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा के सिंगल बैंच में मामला लगा था, जिसमें पुलिस ने कोर्ट में जवाब प्रस्तुत कर कहा कि हम आरोपी को पकड़ने हर सम्भव प्रयास कर रहे हैं.

पीड़िता ने कही थी ये बात
इसी बीच पीड़िता ने कोर्ट के बीच सुनवाई में कहा जज साहब मैं कुछ कहना चाहती हूं.. बिलासपुर पुलिस सरासर झूठ बोल रही है. पुलिस कोर्ट को गुमराह कर रही है, जबकि आरोपी शुभम लालवानी ने अपने ओरिजनल नाम दीपक लालवानी के नाम से सेशन कोर्ट में बेल लगाया था, उसके बाद हाई कोर्ट में. जहां उसे हाईकोर्ट के जस्टिस आरसीएस सामन्त के सिंगल बैंच से 21 जून को बेल मिल गई और पुलिस ने 28 जून को कोर्ट को गुमराह करते हुए जानकारी दी की हम उसे गिरफ्तार करने हर सम्भव प्रयास कर रहे हैं.

Demo Pic.


कोर्ट गंभीर
पीड़िता की पैरवी के बाद कोर्ट ने मामले की गंभीरता को देखते हुए कहा कि आपके मामले को जस्टिस आरसीएस सामन्त के सिंगल बैंच में रेफर कर रहे हैं, जिसकी सुनवाई आज फिर हुई. बता दें कि कलकत्ता की रहने वाली युवती के साथ राजनांदगांव के रहने वाला युवक शुभम लालवानी ने पश्चिम बंगाल की रहने वाली युवती जो कि बिलासपुर के सरकंडा स्थित मकान में अकेली किसी काम से आई थी.
Loading...

ये है मामला
युवती को अकेली पाकर आरोपी लालवानी ने उसके साथ दुष्कर्म किया. उसके बाद आपसी समझौता के बाद युवती ने शादी के झांसे में आकर युवक की बात मानकर थाने में रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई, लेकिन उसके बाद भी युवक ने शादी नहीं की. युवती ने इसकी शिकायत थाने में कराई पर आजतक दुष्कर्म के आरोपी युवक की गिरफ्तारी नहीं की गई, जिसके चलते दुष्कर्म पीड़िता को हाई कोर्ट की शरण मे जाकर न्याय की गुहार लगानी पड़ी. बड़ी बात तो यह है कि युवती ने अपने मामले की पैरवी खुद की.

ये भी पढ़ें: भूपेश सरकार ने खत्म की वैट की रियायत, इतने रुपये मंहगा हो गया पेट्रोल-डीजल 

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के मैनपाट इसी साल से शुरू होगी चाय की खेती, सरकार ने की ये तैयारी 
First published: August 8, 2019, 11:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...