नदी का पानी लाल होने से दहशत में ग्रामीण, पीएचई विभाग ने लिए सैंपल

मनियारी नदी में पानी का रंग लाल नजर से ग्रामीणों में दहशत का माहौल हो गया, वहीं पीएचई विभाग ने पानी का सैंपल लिया, जिसकी रिपोर्ट जल्द आने की बात कही गई है.

Sanjay Manikpuri | News18 Chhattisgarh
Updated: December 8, 2018, 8:05 AM IST
नदी का पानी लाल होने से दहशत में ग्रामीण, पीएचई विभाग ने लिए सैंपल
नदी का पानी लाल होने से दहशत में ग्रामीण, पीएचई विभाग ने लिए सैंपल
Sanjay Manikpuri | News18 Chhattisgarh
Updated: December 8, 2018, 8:05 AM IST
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में मनियारी नदी का पानी अचानक लाल हो गया, जिससे ग्रामीणों में दहशत फैल गई. दरअसल जिला मुख्यालय से करीब 27 किलोमीटर बिल्हा ब्लॉक के सरगांव से मनियारी नदी में पानी का रंग लाल नजर आने लगे, जिससे गांव से गुजरने वाले ग्रामीणों में दहशत का माहौल हो गया. नदी का पानी लाल हो जाने का कारण किसी के समझ नहीं आया, तभी ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी, सूचना मिलते ही प्रशासनिक अमले ने मौके का निरीक्षण किया साथ ही पीएचई विभाग ने पानी का सैम्पल लिया, जिसकी रिपोर्ट जल्द आने की बात कही गई है.

ग्रामीणों का कहना है कि मनियारी नदी के आसपास कई प्लांट और फैक्टरी हैं. जिनका खतरनाक वेस्ट मटेरियल पानी में मिल रहा है और नदी के पानी के दूषित होने से गांव में बीमारी फैल रही हैं. मवेशियों को नुकसान की आशंका को लेकर दहशत में आए ग्रामीण इस मसले पर  प्रशासन द्वारा नजरअंदाज करने की बात कह रहे हैं. वहीं मनियारी नदी का बहाव सल्फा से लेकर भोजपुरी, भखरीडीह,खम्हारडीह, पेंड्री गांव तक है, जिसका पानी दूषित हो गया है.

वहीं पर्यावरण अधिकारी इस पूरे मामले में कुछ भी कहने से बचते नजर आ रहे हैं, हालांकि उन्होंने मामले को प्राकतिक घटना बताकर पानी का सैम्पल लैब भेज रिपोर्ट में कारण स्पष्ट होने की बात कही है. इस मामले में प्रशासनिक अधिकारी भी जांच करने की बात कहते हुए अपना पल्ला झाड़ने में लगे हुए हैं.

यह भी पढ़ें-  मनियारी नदी की सफाई का काम शुरू

यह भी देखें -  VIDEO: पानी के लिए परेशान हैं किसान
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर