बड़े हादसे का शिकार हो सकती थी बिलासपुर-शहडोल ट्रेन, रेलवे कर्मी ने ऐसे बचाई जान
Bilaspur News in Hindi

बड़े हादसे का शिकार हो सकती थी बिलासपुर-शहडोल ट्रेन, रेलवे कर्मी ने ऐसे बचाई जान
रेलवे कर्मी ने एक बड़ा हादसा होने से बचा लिया. (File Photo)

तकरीबन आधे घंटे की मशक्कत के बाद ट्रैक सही किया गया और ट्रेन को फिर रवाना किया गया.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
बिलासपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बिलासपुर (Bilaspur) जिले में एक बड़ा हादसा (Train Accident) हो सकता था. लेकिन रेलवे कर्मी की सजगता ने कई लोगों की जान बचा ली. दरअसल, पेंड्रारोड़ स्टेशन और हिर्री स्टेशन के बीच ट्रेन की पटरी में दरार आने की वजह से टूट गई थी. इस दौरान बिलासपुर-शहडोल मेमू ट्रेन (Bilaspur-Shahdol Train) इस पर गुजरने वाली थी. ऐन वक्त पर गैंगमैन की नजर टूट पटरी पर पड़ी. उसे फौरन इस बात की जानकारी स्टेशन मास्टर और बाकी के अधिकारियों को दी. सूचना मिलते ही आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और ट्रेन को पटरी से गुजरने से रोका. रेलकर्मियों ने फौरन पटरी के मरम्मत का भी काम शुरू किया. तकरीबन आधे घंटे की मशक्कत के बाद ट्रैक सही किया गया और ट्रेन को फिर रवाना किया गया.

हो सकता था बड़ा हादसा

मंगलवार सुबह अगर रेलवेकर्मी गैंगमैन सजगता नहीं दिखाता तो बिलासपुर-शहडोल मेमू ट्रेन के साथ बड़ा हादसा हो सकता था. पेंड्रारोड़ स्टेशन और हिर्री स्टेशन के बीच ट्रेन की पटरी दो टुकड़ों में बंट गई थी. इस दौरान पटरियों की पेट्रोलिंग कर रहे गैंगमैन पीएल धुर्व की निगाह उस पर पड़ी. फौरन उसने मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी. पटरी टूटी होने की जानकारी गैंगमैन ने उच्चाधिकारियों सहित स्टेशन मास्टर को दिया तब तक मेमू ट्रेन पेंड्रारोड़ स्टेशन से छूट चुकी थी. टूटी हुई पटरी पर आ रही बिलासपुर-शहडोल मेमू ट्रेन को अपनी सजगता दिखाते हुए गैंगमेन ने कुछ ही दूर पर झंडा दिखाकर रोक दिया.



टूटी हुई पटरी पर आ रही बिलासपुर-शहडोल मेमू ट्रेन को अपनी सजगता दिखाते हुए गैंगमेन ने कुछ ही दूर पर झंडा दिखाकर रोक दिया.




अगर समय में थोड़ी सी चूक और कार्य में ढिलाई रह जाती तो मेमू ट्रेन बड़े हादसे का शिकार हो सकती थी. लेकिन गैंगमैन की सजगता से हादसा टल गया. पेंड्रारोड़ से हिर्री रेलवे स्टेशन के बीच टूटी हुई पटरी के कुछ ही दूरी पर लगभग आधा घंटा मेमू ट्रेन को रुकवाया गया. वहीं रेलवे विभाग द्वारा ट्रैक मरम्मत के लिए दल-बल को मौके पर भेजा गया. आधा घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पटरी की मरम्मत की गई जिसके बाद बिलासपुर-शहडोल मेमू को रवाना किया गया. घटना की जानकारी मिलने के बाद रेलवे विभाग ने अपने कार्यों के प्रति सजग रहने वाले गैंगमैन पीएल धुर्व को प्रशस्ती पत्र से सम्मानित करने की बात कहते हुए अन्य कर्मचारी और अधिकारियों को नसीहत भी दी कि इस तरह सावधानी से कार्य करते रहें.
ये भी पढ़ें: 

किसानों के लिए अच्छी खबर, धान खरीदी की बकाया राशि के लिए योजना बना सकती है सरकार

शिक्षकों ने अपनी सैलरी से चलाया अनूठा अभियान, फिर से वापस स्कूल लौटने लगे बच्चे 
First published: February 18, 2020, 1:45 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading