तीन घंटे बाद भी नहीं पहुंची एंबुलेंस, महिला ने निजी गाड़ी में ही दिया बच्चे को जन्म

Sanjay | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 17, 2017, 7:41 AM IST
तीन घंटे बाद भी नहीं पहुंची एंबुलेंस, महिला ने निजी गाड़ी में ही दिया बच्चे को जन्म
महिला ने गाड़ी में दिया बच्चे को जन्म
Sanjay | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 17, 2017, 7:41 AM IST
बिलासपुर में एक बार फिर स्वास्थ्य महकमे की लापरवाही का एक मामला सामने आया है. प्रसव पीड़ा से तड़प रही महिला को एंबुलेंस नहीं मिलने के बाद परिजनों निजी गाड़ी से कोटा अस्पताल में भर्ती कराया.

जानकारी के अनुसार मामला कोटा ब्लाक मुख्यालय से 12 किलो मीटर दूर लोकबंध गांव की निवासी हेमलता खूंटे का है. शनिवार को प्रसव पीड़ा के बाद अस्पताल ले जाते वक्त महिला ने गाड़ी में ही बच्चे को जन्म दे दिया. परिजनों ने बताया कि एंबुलेंस के तीन घंटे के अंदर भी नहीं पहुंचने के बाद हेमलता को निजी गाड़ी से अस्पताल ले जाने का फैसला लिया गया.

कोटा अस्पताल के डॉक्टर्स ने बताया कि हालांकि जच्चा और बच्चा दोनों ही स्वस्थ है जिनका प्रारंभिक उपचार शुरू कर दिया गया है. बता दें कि अस्पताल ले जाते वक्त बच्चे को जन्म दिए जाने का यह कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी कई मामलों में देखा गया है कि संजीवनी और जननी एक्सप्रेस जैसी एंबुलेंस सेवाएं सिर्फ कागजी साबित हुई हैं.
First published: September 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर