होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /दोस्त का अपहरण कर मांगे 50 लाख रुपये, फिरौती मिलने से पहले कर दी हत्या, पुलिस को देख मुस्कुराता रहा

दोस्त का अपहरण कर मांगे 50 लाख रुपये, फिरौती मिलने से पहले कर दी हत्या, पुलिस को देख मुस्कुराता रहा

बिलासपुर एसएसपी पारुल माथुर ने घटना स्थल का जायजा लिया.

बिलासपुर एसएसपी पारुल माथुर ने घटना स्थल का जायजा लिया.

Bilaspur Crime News: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में एक नाबालिग के अपहरण और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई है. पुलिस का दावा है ...अधिक पढ़ें

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ की न्यायधानी कहलाने वाला बिलासपुर अपराध गढ़ बनता जा रहा है. आये दिन हत्या, लूटपाट डकैती और हत्या जैसी वारदातों का ग्राफ लगतार बढ़ रहा है. पुलिस दावों का ढोल पीटकर खुश हो रही है. सोमवार की सुबह बिलासपुर में एक सनसनीखेज मामला सामना आया है. जब एक दोस्त ने रुपयों की लालच में अपने दो साथियों के साथ मिलकर अपने दोस्त को मौत के घाट उतार दिया. पहले अपहरण और फिर 50 लाख फिरौती की मांग की गई. फिरौती की रकम मिलने से पहले ही आरोपियों ने नाबालिग की गला घोंटकर हत्या कर दी.

बिलासपुर के डीपूपारा में रहने वाले रेहान को पता नही था कि रविवार की शाम के बाद वह कल का सबेरा नहीं देख पाएगा. दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले रेहान की उम्र तकरीबन 17 साल के आसपास थी. उसके पिता ऑटो डील का काम करते हैं. उनके इस काम मे रेहान भी साथ दिया करता था. रेहान अपने परिवार का इकलौता चिराग था. बीते रविवार की शाम करीब 6 बजे रेहान घर से बाहर घूमने के लिए निकला. बताते है कि रात 8- 9 बजे तक घर आने वाला रेहान जब रात 10 बजे तक घर नहीं आया तो परिजनों ने रेहान को फोन लगाया, लेकिन रेहान का फोन स्विच ऑफ था. ऐसे में परेशान परिजन पहले तो शहर में उसकी तलाश करते रहे.

बेटे के नंबर से आया कॉल
पुलिस के मुताबिक रात करीब साढ़े ग्यारह बजे रेहान के मोबाइल से पिता के पास फोन आया. जिसमें एक शख्स ने रेहान का अपहरण करने की जानकारी दी. साथ ही 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी और फिर फोन स्विच ऑफ हो गया. हड़बड़ाए परिजन तत्काल तारबाहर थाने पहुंचे और पुलिस को जानकारी दी. उधर परिजनों की शिकायत के बाद हरकत में आई पुलिस का दावा है की रात में ही परिजनों की शिकायत के बाद कई टीमें बनाकर अपहरणकर्ताओं की तलाश में लगाई गई. रेहान के मोबाइल के आखिरी काॅल डिटेल्स से पुलिस की साइबर टीम को रतनपुर की आखरी लोकेशन मिली. चूंकि उसके बाद फोन स्विच ऑफ हो गया. इस वजह से तकनीकी साक्ष्य जुटाने में पुलिस को भारी दिक्कत हो रही थी.

जांच के दौरान पुलिस ने रेहान के पड़ोस में रहने वाले अभिषेक जो कि घटना का मुख्य आरोपी है उसे हिरासत में लिया. एस एस पी पारुल माथुर के मुताबिक मुख्य आरोपी सिविल लाइन के एक अस्पताल में बॉउन्सर का काम करता है. इसलिए पुलिस ने सुबह उसे अस्पताल से ही हिरासत में लिया और उससे पूछताछ शुरू की. शुरू में आरोपी मुस्कुराकर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश करता रहा, लेकिन जब कड़ाई से पूछताछ हुई तो आरोपी ने रेहान की हत्या कर दिए जाने की जानकारी दी. अभिषेक की निशानदेही पर पुलिस रतनपुर पहुंची, जहां एक नाले के किनारे पाइप लाइन के अंदर शव को छिपाया गया था.

बताया जा रहा है रेहान ने अभिषेक को पहचान लिया था. इस डर से अभिषेक और उसके साथ उसके दो और दोस्तों ने रेहान का गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. बहरहाल पुलिस ने 12 घण्टे के भीतर अपहरण और हत्या के मामले की गुत्थी को सुलझने के बाद अपनी पीठ थपथपा रही है.

Tags: Bilaspur news, Crime News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें