छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला, निजी अस्पतालों में 50 फीसदी बेड करोनो मरीजों के लिए होंगे रिजर्व

छत्तीसगढ़ में कोरोना को देखते हुये मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बड़ा कदम उठाया है.

छत्तीसगढ़ में कोरोना को देखते हुये मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बड़ा कदम उठाया है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में बढ़ते कोरोना के मरीजों को देखते हुये सीएम भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) निजी अस्पतालों (Private Hospitals) में 50 फीसदी बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने का आदेश दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 5:28 PM IST
  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) सरकार ने प्रदेश में बढ़ती कोरोना मरीजों (Corona patients) की संख्या को देखते हुये बड़ा फैसला लिया है. छत्तीसगढ़ सरकार ने निजी अस्पतालों में 50 फीसदी बेड होंगे कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने का आदेश दिया है. इके लिए सरकार ने अस्पतालाों की एक सूची और बेडों की संख्या की जारी की है. अब निजी अस्पतालों में 2148 बेड कोरोना संक्रमितों के लिए रिजर्व रहेंगे.

होली त्यौहार को लेकर रायगढ़ में जारी हुई गाइड लाइन

रायगढ़ के कलेक्टर भीम सिंह ने कोरोना को लेकर नई गाइड लाइन जारी कर दी है. कोविड के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सामूहिक होली मिलन पर लगा प्रतिबंध लगा दिया गया है. जिले के सभी पर्यटन स्थल आगामी आदेश तक के लिये पूरी तरह बंद रहेंगे. हर तरह के सामाजिक सांस्कृतिक धार्मिक और खेल राजनीतिक, आयोजनों पर प्रतिबंधित रहेगा.

दो-पहिया में दो और चार पहिया में चार लोगों के बैठने की ही अनुमति होगी. डीजे नंगाड़ा जैसे सभी ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. शादी, दाह-संस्कार, दशगात्र जैसे आयोजनों में केवल 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति हैं. धार्मिक स्थलों में सामूहिक पूजन आराधना नमाज़ अरदास की अनुमति नहीं है.
दूसरे राज्यों से रायगढ़ जिले में आने वालों को 7 दिनों तक क्वारेन्टीन रहना होगा. सभा, धरना, रैली जैसे सभी आयोजनों को अगले आदेश तक अनुमति नहीं है. पूरे जिले में अगले आदेश तक धारा 144 प्रभावी रहेगी. सार्वजनिक जगहों में 5 से ज़्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकेंगे.

छत्‍तीसगढ़ में कल 24 मार्च को 2106 नए कोरोना संक्रमित मिले थे. वहीं, 29 लोगों की करोना से मौत हुई थी. इस तरह प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 4000 के पार पहुंच गई है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक दुर्ग जिले में संक्रमण के सबसे ज्यादा 793 मामले सामने आए हैं. इसको संज्ञान में लेकर जिला प्रशासन ने सख्‍ती शुरू कर दी है. कलेक्‍टर ने जिले में धारा 144 को लागू कर दिया है. दुर्ग के साथ ही बस्‍तर में भी धारा 144 लागू कर दी गई है.

कोरोना से 29 मौत के बाद जागी छत्‍तीसगढ़ सरकार, अब होली से लेकर शादी और अंत‍िम संस्‍कार के ल‍िए नए दिशा न‍िर्देश जारी



इधर, रायपुर कलेक्टर ने भी सख्‍ती का फरमान जारी कर दिया है. कलेक्‍टर का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण की गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई होगी. दोनों जिलों के कलेक्‍टर ने बिना मास्‍क दिखने वालों पर कानूनी कार्रवाई करने का आदेश दिया है. राजधानी में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 573 पर पहुंच गया है. मार्च महीने में अब तक 204 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है. मार्च 2020 से अब तक सर्वाधिक 1144 मौतें अक्टूबर 2020 में हुई थीं. बता दें कि राज्य में अब तक संक्रमण के कुल 3,29,654 मामले सामने आए हैं.

छत्तीसगढ़ आने में 7 दिन का होम क्वारंटीन जरूरी

छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुये नियम कायदे सख्त कर दिये गये हैं. एक तरफ जहां रायपुर में धारा 144 लगा दी गई है. वहीं प्रदेश में सभी सांस्कृतिक से लेकर बड़े आयोजनों पर रोक लगा दी गई है. दूसरी तरह संक्रमण जिस तेजी से बढ़ रहा है. साथ ही मौत के आंकड़े भी बढ़े हैं. ऐसे में दूसरे राज्यों से छत्तीसगढ़ में आने वाले लोगों को सात दिनों तक होम क्‍वारंटाइन में रहना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज