Assembly Banner 2021

छत्‍तीसगढ़: एंटी नक्‍सल ऑपरेशन में तैनात BSF जवान ने खुद को गोलीमार की खुदकुशी

सोनीपत (हरियाणा) निवासी  हेड कांस्‍टेबल सुरेश कुमार की तैनाती बीएसएफ की 157 बटालियन में थी (फाइल फोटो)

सोनीपत (हरियाणा) निवासी हेड कांस्‍टेबल सुरेश कुमार की तैनाती बीएसएफ की 157 बटालियन में थी (फाइल फोटो)

सर्च ऑपरेशन (Search Operation) से वापस आने के कुछ समय बाद ही बीएसएफ (BSF) के जावन खुद को अपनी सर्विस राइफल से गोलीमार कर खुदकुशी (Suicide) कर ली.

  • Share this:
कांकेर. छत्‍तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कांकेर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान ने खुद को गोलीमार खुदकुशी (Suicide) कर ली है. मृतक जवान की पहचान हेड कांस्‍टेबल सुरेश कुमार (Suresh Kumar) के रूप में हुई है. जवान के शव का पोस्‍टमार्टम कराने के बाद उसके गृह ग्राम रवाना कर दिया गया है. वहीं, खुदकुशी को लेकर बीएसएफ (BSF) ने आतंरिक जांच शुरू कर दी है. बीएसएफ के अलावा, कांकेर जिला पुलिस (Police) भी खुदकुशी के कारणों का पता लगाने में जुट गई है.

सूत्रों के अनुसार, सोनीपत (हरियाणा) निवासी  हेड कांस्‍टेबल सुरेश कुमार की तैनाती बीएसएफ की 157 बटालियन में थी. फिलहाल, बीएसएफ की इस बटालियन को छत्‍तीसगढ़ में एंटी नक्‍सल ऑपरेशन के तहत पंखाजूर थानाक्षेत्र के संगम इलाके में तैनात किया गया था. शुक्रवार देर रात नक्‍सलियों की तलाश में निकली बीएसएफ की टीम संगम कैंप में वापस आई थी.  इसी टीम में हेड कांस्‍टेबल सुरेश कुमार भी शामिल था. सर्च ऑपरेशन से वापस आने के कुछ समय बाद वह अपनी सर्विस राइफल लेकर कैंप से बाहर निकल गया.

कैंप से 50 मीटर की दूरी पर खुद को मारी गोली
कैंप से करीब 50 मीटर दूर पहुंचने के बाद उसने खुद को अपनी सर्विस राइफल से गोली मार ली. गोली की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे बीएसएफ के जवानों ने हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. तलाशी के दौरान, बीएसएफ के जवान के पास से सुसाइड नोट नहीं मिला है, जिसके चलते अभी तक खुदकुशी के कारणों का खुलासा नहीं हो सकता है. बीसएसएफ के अधिकारी, हेडकांस्‍टेबल सुरेश के सहकर्मियों एवं परिजनों से बातचीत कर खुदकुशी के कारणों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं.



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज