Home /News /chhattisgarh /

गर्भवती और बच्चों के पोषक आहार चढ़ रहे भ्रष्टाचार की भेंट

गर्भवती और बच्चों के पोषक आहार चढ़ रहे भ्रष्टाचार की भेंट

छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले में गर्भवती महिलाओं को दिया जाने वाला पोषक आहार और छोटे बच्चों को दिए जाने वाले रेडी टू ईट मील व्यवस्था भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही है.

    छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले में गर्भवती महिलाओं को दिया जाने वाला पोषक आहार और छोटे बच्चों को दिए जाने वाले रेडी टू ईट मील व्यवस्था भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही है. दरअसल, पोषक आहार और रेडी टू ईट मील की वितरण व्यवस्था की बेहतर मॉनिटरिंग नहीं हो पा रही है, जिससे इसमें भ्रष्टाचार बढ़ता जा रहा है.

    बता दें कि जांजगीर जिले की ज्यादातर आंगनबाड़ी खुलती ही नहीं है और जो खुलतीं हैं, उसमें पोषण आहार का वितरण ही नहीं होता है. राज्य के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में शासन द्वारा गर्भवती महिलाओं को गर्म और पौष्टिक भोजन देने का प्रावधान है, जिसमें किशोर बालिकाओं को महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को रेडी टू ईट के दो दो पैकेट और गर्भवती महिलाओं को पहले और तीसरे मंगलवार को दो दो पैकेट पोषक आहार दिया जाना होता है.

    अब विभागीय लापरवाही के चलते महीने में महज एक एक पैकेट पोषक आहार का वितरण कर खानापूर्ति कर ली जाती है. बच्चों और महिलाओं का आरोप है कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अधिकारियों से सांठ-गांठ कर पोषक आहार के पैकेट को रेडी टू ईट तैयार करने वाले स्व सहायता समूह को बेच देते हैं जिसे समूह दोबारा सप्लाई कर देता है.

    यही नहीं, शिकायतकर्ताओ का यह भी कहना है कि शिकायत करने पर धमकी भी दी जाती है. महिला एवं बाल विकास के जिला परियोजना अधिकारी इस पूरे मामले से अंजान हैं. अब ईटीवी द्वारा मामले को उठाए जाने के बाद अब जिला परियोजना अधिकारी राजेन्द्र कश्यप मामले की जांच कर दोषी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं.

    Tags: Chhattisgarh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर