लाइव टीवी

'ब्लास्ट के बाद 50 फीट ऊपर उड़ी थी विधायक भीमा मंडावी की गाड़ी, अंधाधुंध फायरिंग कर रहे थे नक्सली'
Dantewada News in Hindi

Abdul Hameed Siddique | News18 Chhattisgarh
Updated: April 10, 2019, 5:46 PM IST

चश्मदीद धनाजी मरावी के मुताबिक विधायक भीमा मंडावी के काफिले पर हमला करने वाले नक्सलियों की 60 से 70 थी.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने चुनाव से ऐन पहले बड़ी घटना को अंजाम दिया था. नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के नाकुलनार में बीजेपी विधायक के काफिले को निशाना बनाया. विधायक भीमा मंडावी के वाहन को आईईडी ब्लास्ट से उड़ा दिया गया था. मंजर कितना भयंकर था, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ब्लास्ट की जगह करीब पांच फीट तक का गड्ढा हो गया. बीते मंगलवार (9 अप्रैल) को हुए नक्सली हमले में विधायक भीमा मंडावी समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी.

अब इस घटना को लेकर चश्मदीद सुरक्षा बल के जवान धनाजी मरावी का बयान सामने आया है. धनाजी मरावी भीमा मंडावी की सुरक्षा काफिले में था. काफिले में भीमा मंडावी के पीछे वाले वाहन में मरावी था. मरावी ने बताया कि उनकी गाड़ी विधायक की गाड़ी से करीब 50 मीटर की दूरी पर थी. अचानक ब्लास्ट हुआ और विधायक मंडावी की गाड़ी करीब 50 फीट ऊपर उड़ गई. गाड़ी के परखच्चे उड़ गए. इसके बाद नक्सलियों ने काफिले पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी.

चश्मदीद धनाजी मरावी के मुताबिक, घटनास्थल पर 60 से 70 की संख्या में नक्सलियों ने चौतरफा फायरिंग शुरू कर दी. हम लोगों ने भी मोर्चा संभाला. कई नक्सली पेड़ पर चढ़कर भी फायरिंग कर रहे थे. नक्सली इस तरह से फायरिंग कर रहे थे जैसे वे मारने और हथियार लूटने के उद्देश्य से ही आए हों. हमने गाड़ी से उतरकर खेत में जाकर मोर्चा संभाला. इस दौरान हमने अपने अधिकारियों को घटना की सूचना भी दी. कुछ देर की फायरिंग के बाद नक्सली फरार हो गए. इसके बाद हम ब्लास्ट की जगह पर पहुंचे और भयावह मंजर देखा.

दंतेवाड़ा में श्रद्धांजलि सभा में शामिल हुए सीएम भूपेश बघेल.


बता दें कि पहले चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन भीमा मंडावी किरंदुल में बैठक लेने के बाद श्यामगिरी में मेला में भी शामिल हुए. इसके बाद वह बचेली से नाकुलनार मार्ग से कुआकोण्‍डा की ओर निकले. इसी दौरान नक्सलियों ने उनके काफिले पर हमला कर दिया. पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने दावा किया है कि कोआकोण्‍डा मार्ग पर जाने से पहले बचेली थाना प्रभारी आदित्य सिंह ने भीमा मंडावी को अलर्ट किया और उस मार्ग से जाने से मना किया, लेकिन उन्होंने बात नहीं मानी थी.
ये भी पढ़ें: क्या इस एक चूक की वजह से नक्सलियों का शिकार बने बीजेपी विधायक भीमा मण्डावी? 
ये भी पढ़ें: बस्तर टाइगर महेन्द्र कर्मा को हराकर पहली बार विधायक बने थे नक्सल हमले में मारे गए भीमा मंडावी ये भी पढ़ें: वोटिंग से 36 घंटे पहले दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, BJP विधायक की मौत, पांच जवान शहीद   
ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव में बस्तर से ग्राउंड रिपोर्ट: 'आजाद देश में आज भी गुलाम हैं आदिवासी' 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दंतेवाड़ा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 10, 2019, 3:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर