लाइव टीवी

दंतेवाड़ाः महिला अधिकारों पर हल्बी-गोंडी बोली में प्रकाशित पुस्तिका का विमोचन

Abdul Hameed Siddique | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 14, 2018, 2:28 PM IST
दंतेवाड़ाः महिला अधिकारों पर हल्बी-गोंडी बोली में प्रकाशित पुस्तिका का विमोचन
दंतेवाड़ा में हल्बी-गोंडी बोली में महिला अधिकारों पर प्रकाशित पुस्तिका का विमोचन करतीं हर्षिता पांडेय.

जिले की अधिकांश आबादी की मातृ बोली हल्बी-गोंडी है. इन स्थानीय बोली में प्रकाशित पुस्तिका से महिलाओं को अपने अधिकार समझने में आसानी होगी.

  • Share this:
ग्रामीण क्षेत्रों में अब महिलाओं को उनके अधिकारों की जानकारी समझने में दिक्कत नहीं होगी. बस्तर में भाषाई दिक्कतों को देखते हुए हल्बी-गोंडी बोली में महिलाओं को मिलने वाले अधिकारों की पुस्तिका प्रकाशित की गई है. स्थानीय भाषा में महिलाओं को अधिकारों पर पुस्तक प्रकाशित करने वाला पहला जिला दंतेवाड़ा है. इस पुस्तिका का विमोचन छत्तीसगढ़ की राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा श्रीमति हर्षिता पांडेय ने किया.

महिलाओं से संबंधित कानून का हल्बी-गोंडी बोली में प्रशिक्षुओं के प्रशिक्षण सह कार्यशाला को सम्बोधित किया. उन्होंने कहा कि स्थानीय हल्बी-गोंडी बोली में ग्रामीण महिलाएं विधिक जानकारी को सरलता से समझ सकेंगी.

जिले की अधिकांश आबादी की मातृ बोली हल्बी-गोंडी है. इन स्थानीय बोलियों में महिला अधिकारों की जानकारी देने से ग्रामीण महिलाएं सहजता से समझ पाएंगी. इस दिशा में मास्टर्स ट्रेनर्स को संवदेनशीलता के साथ ग्रामीण महिलाओं को कानूनी जानकारी देकर सजग बनाने पहल की जाएगी.

उन्होंने कहा कि जिले के सभी ग्राम पंचायतों के लिए मास्टर्स ट्रेनर्स नियुक्त किए जायेंगे. जो स्थानीय बोली में कानूनी जानकारी महिलाओं देकर उन्हें जागरूक करेंगे. इस दौरान सभी मास्टर्स ट्रेनर्स को छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग द्वारा महिलाओं के संरक्षण अधिकार एवं कानून की हल्बी गोंडी में लिखित पुस्तिका सशक्त महिला सशक्त राष्ट्र प्रदान किया गया.

छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पांडेय ने कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में महिलाओं से संबंधित प्राप्त प्रकरणों की सुनवाई करते हुए आवश्यक कार्रवाई करने का भरोसा पक्षकारों को दिलाया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दंतेवाड़ा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2018, 2:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर