दंतेवाड़ा उपचुनाव: शहीद की पत्नी को प्रत्याशी बनाना चाहते हैं BJP कार्यकर्ता

Abdul Hameed Siddique | News18 Chhattisgarh
Updated: August 28, 2019, 11:35 AM IST
दंतेवाड़ा उपचुनाव: शहीद की पत्नी को प्रत्याशी बनाना चाहते हैं BJP कार्यकर्ता
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा विधानसभा सीट पर उपचुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा विधानसभा सीट (Dantewada Assembly Seat) पर उपचुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा विधानसभा सीट (Dantewada Assembly Seat) पर उपचुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई है. बुधवार से इस सीट पर नामांकन की अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन शुरू हो जाएगा. इस सीट पर उपचुनाव (By-Election) में बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) प्रत्याशी के बीच ही सीधा मुकाबला होने की संभावना है. ऐसे में बीजेपी के स्थानीय कार्यकर्ता शहीद विधायक भीमा मंडावी (Bheema Mandavi) की पत्नी ओजस्वी मंडावी को ही पार्टी की ओर से प्रत्याशी बनाने की मांग कर रहे हैं.

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के प्रचार के दौरान नक्सलियों के बारूदी विस्फोट में बीजेपी विधायक भीमा मंडावी की मौत हो गई थी. दंतेवाड़ा विधानसभा में उपचुनाव (By-Election) की घोषणा होते ही उनके समर्थक अब पत्नी ओजस्वी मंडावी को चुनाव लड़ाना चाहते हैं. हालांकि भाजपा ने अभी प्रत्यासी का चयन नहीं किया है, लेकिन नक्सल प्रभावित क्षेत्र के बीजेपी समर्थित युवा ओजस्वी के चुनाव प्रचार प्रसार में जुट गए हैं. दिवंगत विधायक की पत्नी ओजस्वी भी अपने पति के सपनो को पूरा करने के लिए जनसेवा करना चाहती हैं और चुनाव लड़ना चाहती हैं.

Chhattisgarh, Dantewada By election
भीमा मंडावी की पत्नी ओजस्वी मंडावी.


बनने लगी चुनाव की रणनीति

ओजस्वी मंडावी का कहना है कि संघठन यदि प्रत्यासी बनाती है तो वो चुनाव जरूर लड़ेंगी और जीतकर पति के सपनों को साकार करेंगी. दिवंगत विधायक के घर नक्सल प्रभावित अंदुरनी गांव से पहुंचे युवाओं ने चुनाव को लेकर रणनीति बनानी शुरू कर दी है. ओजस्वी मंडावी ने कांग्रेस सरकार पर भेदभाव करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि चार माह बाद भी पति की मौत के बाद उनको पेंशन मिलना शुरू नहीं हुआ है. इससे परिवार का भरण-पोषण करना मुश्किल हो गया है. कांग्रेस सरकार दिवंगतों के परिवारों का सम्मान करना नहीं जानती. स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम तक में बुलाना भूल गई. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार आते ही स्व. महेंद्र कर्मा के बेटे आशीष कर्मा को डिप्टी कलेक्टर बना दिया गया, लेकिन हमारे परिवार के बारे में सोचा नहीं जा रहा है.

ये भी पढ़ें: CRIME: शराबी बेटे ने पहले की मां की हत्या, फिर शव के साथ की ये बर्बरता 

ये भी पढ़ें: निकाय चुनाव से पहले छत्तीसगढ़ में 'न्याय' की शुरुआत कर सकती है भूपेश सरकार 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दंतेवाड़ा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 11:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...