दंतेवाड़ा पुलिस को नक्सलवाद के खिलाफ मिली बड़ी कामयाबी, 32 नक्सलियों ने किया सरेंडर

आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में दस महिलाएं शामिल हैं (फाइल फोटो)
आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में दस महिलाएं शामिल हैं (फाइल फोटो)

दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अभिषेक पल्लव ने बताया कि 10 महिलाओं समेत अन्य नक्सलियों ने बरसूर पुलिस थाने में यह कहते हुए आत्मसमर्पण किया कि वो जिला पुलिस के पुनर्वास अभियान से प्रभावित हैं और ‘खोखले’ माओवादी विचाराधारा से निराश हो चुके हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 11:43 PM IST
  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में रविवार को 32 नक्सलियों ने पुलिस के सामने सामूहिक रूप से सरेंडर किया है. पुलिस के मुताबिक आत्मसमर्पण करने वालों में से चार के सिर पर कुल चार लाख रुपए का ईनाम था. दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अभिषेक पल्लव ने बताया कि 10 महिलाओं समेत अन्य नक्सलियों ने बरसूर पुलिस थाने में यह कहते हुए आत्मसमर्पण किया कि वो जिला पुलिस के पुनर्वास अभियान से प्रभावित हैं और ‘खोखले’ माओवादी विचाराधारा से निराश हो चुके हैं.

पल्लव ने बताया कि सरेंडर करने वाले 32 नक्सलियों में से 19 बकेली गांव के रहनेवाले हैं. जबकि चार कोरकोट्टी और उदेनार, टुमारीगुंडा और मतासी गांव के तीन-तीन व्यक्ति हैं. उन्होंने बताया कि इन सभी पर पुलिस टीमों पर हमला करने, चुनाव का आयोजन करने से जुड़े अधिकारियों पर हमला करने और बारूदी सुरंग विस्फोट का आरोप है. उन्होंने कहा कि इनमें से चार के सिर पर एक-एक लाख रुपए का ईनाम था.





पुलिस ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए सरेंडर करने वाले नक्सलियों की पहचान जाहिर नहीं की है. यह नक्सली दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संगठन, क्रांतिकारी महिला आदिवासी संगठन, चेतना नाट्य मंडली (माओवादियों की सांस्कृतिक शाखा) और जनताना सरकार समूह से हैं. (भाषा से इनपुट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज