लाइव टीवी

नक्सली के साथ ही पन्नी में बांध लाए शहीद का शव, किरकिरी होने पर SP ने दी ये सफाई

Abdul Hameed Siddique | News18 Chhattisgarh
Updated: October 9, 2019, 1:20 PM IST
नक्सली के साथ ही पन्नी में बांध लाए शहीद का शव, किरकिरी होने पर SP ने दी ये सफाई
शहीद को पन्नी में बांध कर ले लाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. (सांकेतिक तस्वीर)

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा (Dantewada) में नक्सलियों (Naxalite) से मुठभेड़ (Encounter) के बाद शहीद को लाने को लेकर पुलिस (Police) की किरकिरी हो रही है.

  • Share this:
दंतेवाड़ा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा (Dantewda) में नक्सलियों (Naxalite) से मुठभेड़ (Encounter) के बाद शहीद का शव लाने को लेकर पुलिस (Police) की किरकिरी हो रही है. सुरक्षा बल के जवानों ने मुठभेड़ में शहीद (Martyr) जवान का शव मारे गए नक्सली के शव के साथ ही पन्नी में बांध कर ले आए. दोनों के शव एक साथ रखकर लाए जाने के बाद से पुलिस की किरकिरी हो रही है. मामले में बवाल मचता देख दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव (SP Dr. Abhishek Pallav) ने सफाई दी है.

दंतेवाड़ा (Dantewada) के कटेकल्याण के डब्बा इलाके में नक्सलियों (Naxalite) के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़ (Encounter) हुई थी. बीते 8 अक्टूबर को हुई इस मुठभेड़ में 8 लाख रुपये के इनामी नक्सली देवा को डीआरजी के जवानों ने मार गिराया था. इसी मुठभेड़ में गोली लगने से सहायक आरक्षक कैलाश नेताम शहीद हो गए थे. मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बल के जवानों ने शहीद नेताम के शव को नक्सली देवा के शव के साथ ही पन्नी में लपेट लाया. इसके बाद से शहीद के सम्मान को लेकर पुलिस पर सवाल उठाए जा रहे हैं.

Dantewada, naxalite
एक ही वाहन में पन्नी में लपेट कर शहीद जवान और मारे गए नक्सली का शव लाया गया.


एसपी ने दी सफाई

मामले में दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने सफाई दी है. एसपी पल्लव ने कहा कि जिस जगह पर मुठभेड़ हुई, वह दुर्गम इलाका है. वहां संसाधनों की कमी थी. अलग से वाहन की व्यवस्था करना मुश्किल था. नक्सली के मरने के बाद मृत आत्मा का सम्मान किया जाता है. ऐसे में जवानों ने नक्सली के शव के साथ ही शहीद जवान का शव भी ​ले आए .

मौत के कारणों पर भी उठे सवाल
बता दें कि शहीद कैलाश नेताम की मौत के कारणों को लेकर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं. शुरुआती दौर में पुलिस ने जवान की हार्ट अटैक से मौत होना बताया था, जबकि बाद में गोली लगने से मौत होना पाया गया. इस पर दंतेवाड़ा एसपी डॉ. पल्लव ने कहा कि साथी जवानों को कैलाश नेताम ने सीने में दर्द होना बताया और उसके बाद उनकी मौत हो गई. गोली नजर नहीं आ रही थी. इसलिए शुरुआती दौर में हार्ट अटैक से मौत होना बताया गया था.
Loading...

ये भी पढ़ें: PM सम्मान निधि को लेकर किसानों को गुमराह कर रही है सरकार: धरमलाल कौशिक 

युवती से रेप के बाद आरोपी ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया वीडियो, गिरफ्तार 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दंतेवाड़ा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 12:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...