नक्सलियों ने फेंके पर्चे, मुठभेड़ में ग्रामीणों को मारने का फोर्स पर लगाए आरोप

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने सोमवार को पर्चे फेंककर फोर्स पर गंभीर आरोप लगाए. नक्सलियों ने फोर्स पर बीजापुर में 7 फरवरी को हुई मुठभेड़ में दस ग्रामीणों को मारने का आरोप लगाया है.

Abdul Hameed Siddique | News18 Chhattisgarh
Updated: February 11, 2019, 9:17 PM IST
नक्सलियों ने फेंके पर्चे, मुठभेड़ में ग्रामीणों को मारने का फोर्स पर लगाए आरोप
Demo Pic.
Abdul Hameed Siddique
Abdul Hameed Siddique | News18 Chhattisgarh
Updated: February 11, 2019, 9:17 PM IST
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने सोमवार को पर्चे फेंककर फोर्स पर गंभीर आरोप लगाए. नक्सलियों ने फोर्स पर बीजापुर में 7 फरवरी को हुई मुठभेड़ में दस ग्रामीणों को मारने का आरोप लगाया है. नक्सलियों का दावा है कि मुठभेड़ में मारे गए लोग उनसे नहीं जुड़े थे, वो आदिवासी ग्रामीण थे. नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के कमलूर रेलवे स्टेशन के पास पर्चे फेंके हैं. इसमें ही गंभीर आरोप लगाए हैं.

बीते 7 फरवरी को बीजापुर के अबूझमाड़ क्षेत्र में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी. इस मुठभेड़ में पुलिस ने भरमार बंदूक, आईईडी, कूकर बम सहित अन्य हथियार बरामद किए थे. इसके अलावा नक्सलियों के कैंप को भी ध्वस्त किया था. इसी मुठभेड़ में पुलिस ने दस नक्सलियों को मारने का दावा किया था. इसके साथ ही उनके शव भी बरामद किए गए थे. शवों पर नक्सली वर्दी भी थी.

इसी मुठभेड़ में मारे गए लोगों को लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं. नक्सलियों ने भी मारे गए लोगों को संगठन का नहीं होना बताया है. नक्सलियों के कथित पर्चे में बताया गया कि सभी ग्रामीण थे. नक्सलियों ने अपने फेंके पर्चे में छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय गृहमंत्री को कड़ी सजा देने एवं निंदा करने का लोगो से आह्वान किया है. नक्सलियों की भैरमगढ़ एरिया कमेटी के नाम से पर्चे फेंके गए हैं.



ये भी पढ़ें: झारखंड में सक्रिय एक करोड़ का इनामी नक्सली सुधाकर ने पत्नी संग किया सरेंडर

ये भी पढ़ें: लोकसभा की टिकट के लिए छत्तीसगढ़ कांग्रेस में घमासान, इस नीति का विरोध कर रहे नेता 
ये भी पढ़ें: जानिए बस्तर की इस अनोखी कला के कायल क्यों हैं टेक्सटाइल से जुड़े कलाकार 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...