• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • छत्तीसगढ़: NIA ने राज्य सरकार से मांगी विधायक भीमा मंडावी हत्याकांड की पूरी डिटेल

छत्तीसगढ़: NIA ने राज्य सरकार से मांगी विधायक भीमा मंडावी हत्याकांड की पूरी डिटेल

भीमा मंडावी पर हुए नक्सली हमले की जांच कर रही जांच एजेंसी ने सरकार से जानकारी मांगी है.

भीमा मंडावी पर हुए नक्सली हमले की जांच कर रही जांच एजेंसी ने सरकार से जानकारी मांगी है.

मिली जानकारी के मुताबिक एनआईए की इंवेस्टिगेशन टीम अगले हफ्ते छत्तीसगढ़ भी आ सकती है.

  • Share this:
    दंतेवाड़ा से भाजपा विधायक भीमा मंडावी की नक्सली हमले में मारे जाने के मामले की जांच में तेजी आ सकती है. अब एनआईए (National Investigation Agency) ने छत्तीसगढ़ सरकार से विधायक भीमा मंडावी हत्याकांड की पूरी डिटेल मांगी है. मिली जानकारी के मुताबिक एनआईए की इंवेस्टिगेशन टीम अगले हफ्ते छत्तीसगढ़ भी आ सकती है. इस दौरान कुछ लोगों से पूछताछ की भी संभावना जताई जा रही है. मालूम हो कि कुछ दिन पहले ही छत्तीसगढ़ सरकार ने भाजपा विधायक भीमा मंडावी की नक्सली हमले में मारे जाने के मामले में केंद्र सरकार को एक पत्र लिखा था. राज्य सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा दिए गए एनआईए (NIA) जांच के आदेश पर पुनर्विचार करने की अपील की थी. केन्द्रीय गृह सचिव को पत्र भेजकर राज्य सरकार ने बताय था कि भीमा मंडावी पर हुए नक्सली हमले की जांच अंतिम चरण में है. इस मामले में जांच को पूरा किया जाना बेहद जरूरी है. उस लिहाज से एनआईए को केस सौंपने के आदेश पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए. बता दें कि 17 मई को केंद्र सरकार ने इस मामले में एनआईए जांच के आदेश दिए थे. जांच एजेंसी ने राज्य सरकार से इस मामले से जुड़ी जानकारी मांगी थी. लेकिन एनआईए को मामले से जुड़ी कोई जानकारी नहीं सौंपी गई थी. अब फिर जांच एजेंसी द्वारा मामले से जुड़ी जानकारी मांगी गई है.

    ये है पूरी घटना

    गौरतलब है कि 9 अप्रैल को नक्सलियों ने विधायक भीमा मंडावी के काफिले पर दंतेवाड़ा से लगे श्यामगिरी के बाजार के पास हमला कर दिया था. आईईडी ब्लास्ट कर उनकी गाड़ी ही उड़ा दी गई थी. इस हमले में विधायक मंडावी सहित चार जवान शहीद हो गए थे. भीमा की हत्या के बाद बीजेपी ने इस हमले को साजिश करार दिया था. वहीं इस मामले में राज्य सरकार ने न्यायिक जांच के आदेश दे दिए थे. वहीं 17 मई को केंद्र सरकार ने इस मामले की जांच एनआईए से कराने का फैसला लिया.

     

    ये भी पढ़ें:

    छत्तीसगढ़ में 'जर्जर' शिक्षा व्यवस्था, जान जोखिम में डालकर पढ़ने मजबूर है बच्चे 

    रेत का अवैध तरीके से उत्खनन लगातार जारी, लगाम कसने में विभाग नाकाम 

    जंगलों में आदिवासियों को जागरूक कर रहा नक्सलियों का ये पूर्व कमांडर 

    जवानों ने पेश की मिसाल, तस्वीरों में देखिए बीमार बच्चे को कैसे पहुंचाया अस्पताल 

    छत्तीसगढ़: क्या महज सत्ता तक पहुंचने की 'सीढ़ी' बनकर रह गया है नक्सलवाद? 

    कांग्रेस सरकार ने बदला 10 साल पुराना राज्य स्लोगन, अब 'गढ़बो नवा छत्तीसगढ़' पर राजनीति शुरू  

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स       

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज