आ​जादी के जश्न में यहां पहली बार परेड करेंगी नक्सलवाद से आजाद ये महिलाएं

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में स्वतंत्रता दिवस (independence Day) की तैयारियां चल रही हैं.

Abdul Hameed Siddique | News18 Chhattisgarh
Updated: August 12, 2019, 2:06 PM IST
आ​जादी के जश्न में यहां पहली बार परेड करेंगी नक्सलवाद से आजाद ये महिलाएं
एक समय तक लोकतंत्र के खिलाफ लड़ाई लड़ती रहीं कुछ महिलाएं अब लोकतंत्र के लिए बस्तर के बीहड़ में मोर्चा संभाल रही हैं. फाइल फोटो.
Abdul Hameed Siddique
Abdul Hameed Siddique | News18 Chhattisgarh
Updated: August 12, 2019, 2:06 PM IST
एक समय तक लोकतंत्र के खिलाफ लड़ाई लड़ती रहीं कुछ महिलाएं अब लोकतंत्र के लिए बस्तर के बीहड़ में मोर्चा संभाल रही हैं. नक्सलियों (Naxalites) की लड़ाकू टीम की हिस्सा रहीं ये महिलाएं नक्सलवाद से आजाद हो चुकी हैं और आजादी के दिन पहली बार परेड भी करेंगी. प्रदेश में यह पहला मौका होगा, जब दंतेवाड़ा (Dantewada) में सरेंडर करने वालीं महिला नक्सली आजादी के जश्न में 15 अगस्त को परेड करेंगी.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में स्वतंत्रता दिवस (independence Day) की तैयारियां चल रही हैं. इसके लिए पुलिस कार्यक्रम की रिहर्सल भी लगभग पूरी हो चुकी है. दंतेवाड़ा में इस बार खास बात यह होगी कि यहां पूरी परेड को इस बार महिला डीएसपी दिनेश्वरी नन्द बतौर परेड कमांडर और एएसआई अनिता मेश्राम परेड टूआईसी के तौर पर लीड करेंगी. इन्हीं की कमांड पर पूरे 14 दल परेड करेंगे.

दंतेश्वरी बटालियन, फाइल फोटो.


परेड में शामिल होंगी दंतेश्वरी फाइटर्स

दंतेवाड़ा में आजादी के जश्न में होने वाली इस बार की परेटी में दंतेश्वरी फाइटर्स टीम को भी शामिल किया जा रहा है. बता दें कि कुछ सरेंडर करने वाली महिला नक्सलियों को भी पुलिस की विशेष ट्रेनिंग देकर दंतेश्वरी फाइटर्स की टीम में शामिल किया गया है. ये भी इस बार की परेड में हिस्सा लेंगी. इसके साथ ही सीआरपीएफ की बस्तरिया बटालियन भी इस परेड में हिस्सा लेंगी.

लेंगी राष्ट्रध्वज की सलामी
दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने मीडिया से चर्चा में बताया कि इस बार स्वतंत्रता दिवस की परेड में दंतेश्वरी लड़ाके की टीम को भी शामिल किया गया है. इसी टीम में शामिल सरेंडर महिला नक्सली भी पहली बार परेड कर राष्ट्रध्वज की सलामी लेंगी. ऐसा प्रदेश में अब तक कहीं भी नहीं हुआ. परेड में महिला सशक्‍तीकरण की झलक दिखाई देगी. सभी महिला प्लाटून की टीम आगे रहेंगी. इन्हीं के कदम ताल पर पुरुषों का प्लाटून आगे बढ़ेगा. परेड को लीड भी महिला अफसर ही करेंगी.
Loading...

ये भी पढ़ें:- छत्‍तीसगढ़ में नक्‍सलियों का फरमान- 15 अगस्‍त को न फहराएं तिरंगा 

ये भी पढ़ें:- छत्तीसगढ़ को 3 साल में कुषोपण व एनीमिया मुक्त बनाने का लक्ष्य
First published: August 12, 2019, 12:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...