होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /छत्‍तीसगढ़: सात महीने का गर्भ लेकर भी नक्सल मोर्चे पर तैनात है यह महिला कमांडो, SP ने किया जज्बे को सलाम!

छत्‍तीसगढ़: सात महीने का गर्भ लेकर भी नक्सल मोर्चे पर तैनात है यह महिला कमांडो, SP ने किया जज्बे को सलाम!

ड्यूटी पर तैनात आरक्षक सुनैना पटेल.

ड्यूटी पर तैनात आरक्षक सुनैना पटेल.

दंतेश्‍वरी फाइटर्स (Danteshwari Fighters) बटालियन में नियु‍क्‍त सुनैना गर्भवती होने के बावजूद लगातार सुरक्षा अभियान में ...अधिक पढ़ें

दंतेवाड़ा. अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day) पर छत्तीसगढ़ के घोर नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा से एक बेहद ही संवेदनशील खबर सामने आई है. नक्सलियों (Naxalites) से मोर्चा लेने के लिए तैनात पुलिस की दंतेवश्वरी बटालियन की एक महिला कैडेट प्रेग्नेंट होने के बावजूद जंगल में कर्तव्य का निर्वाह करते हुए सुरक्षा में तैनात दिखीं. महिला कैडेट के इस जज्बे को खुद दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने सलाम किया है. महिला कैडेट को सात महीने का गर्भ है. इसके बावजूद भी उन्‍होंने नक्सल ऑपरेशन पर जाने से इनकार नहीं किया. महिला कैडेट की तस्‍वीर की हर तरफ चर्चा हो रही है.

दंतेवाड़ा पुलिस ने मई 2019 में महिला पुलिसकर्मी और सरेंडर महिला नक्सलियों की एक संयुक्त टीम बनाई. डीआरजी (डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड्स) के तहत काम करने वाली टीम को 'दंतेश्वरी फाइटर्स' का नाम दिया गया. यह टीम नक्सल ऑपरेशन के लिए जंगलों में जाती है और जरूरत पड़ने पर नक्सलियों से मुठभेड़ भी करती है. डीआरजी की इस स्पेशल टीम की स्पेशल मेंबर हैं कांस्‍टेबल सुनैना पटेल.

..तो छुपाई बात
दंतेश्‍वरी फाइटर्स की कैडेट सुनैना कहती हैं कि कमांडो ट्रेनिंग के बाद टीम को लीड करने की जिम्मेदारी उन्हें मिली. कुछ महीने बाद उन्हें पता चला कि वह गर्भ से हैं. अगर वह इस बात की जानकारी अफसरों को देतीं तो शायद उन्हें ऑपरेशन पर जाने से रोक दिया जाता. ऐसे में जब तक वह छुपा सकती थीं, इस बात को छुपाया. इसके बाद डॉक्टर की सलाह लेकर सुरक्षित रहते हुए काम जारी रखने का फैसला किया. पिछले दिनों पोटाली कैम्प के विरोध में ग्रामीणों के उग्र प्रदर्शन के दौरान भी वह मोर्चे पर तैनात थीं. AK-47 हाथ में लिए, सामान से भरा करीब 25 किलो का बैग कंधों पर लटकाकर नक्सलियों से लोहा लेने जंगलों में निकलती रहीं. डीआरजी टीम की प्रभारी डीएसपी शिल्पा साहू ने बताया कि सुनैना में काम का जुनून देखने को मिलता है. जब हमें प्रेग्नेंसी का पता चला तो अब उसकी सेहत काे देखते हुए ऑपरेशन पर भेजना बंद कर दिया गया है. हालांकि, सुनैना अब भी ड्यूटी करती हैं.

एसपी ने कही यह बात
दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने मीडिया को बताया कि सुनैना को पहले एक बार गर्भपात हुआ था, जब वह गश्त कर रही थीं. वह अभी भी अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रही हैं. उन्होंने कई महिलाओं को प्रेरित किया है. जब से उन्होंने कमांडर के रूप में कार्यभार संभाला है, हमारे बल में महिला कमांडो की संख्या दोगुनी हो गई है.

ये भी पढ़ें:
BJP में छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष के लिए दिल्ली दौड़ तेज, कांग्रेस ने जताई ये उम्मीद

डॉ. पुष्पा दीक्षित: 78 की उम्र में भी जारी है संस्कृत बचाने की मुहिम, गणितीय विधि में तैयार किया संस्कृत का फार्मूला

Tags: Chhattisgarh news, Dantewada news, International Women Day, Naxal