Home /News /chhattisgarh /

गरीब पिता के पास नहीं थे बैल, बेटियां खुद जोतने लगी खेत, अब CM भूपेश बघेल करेंगे मदद

गरीब पिता के पास नहीं थे बैल, बेटियां खुद जोतने लगी खेत, अब CM भूपेश बघेल करेंगे मदद

Chhattisgarh  News: गरीब किसान पिता की मदद के लिए खुद खेत जोतने लगी बेटियां

Chhattisgarh News: गरीब किसान पिता की मदद के लिए खुद खेत जोतने लगी बेटियां

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के कोंडागांव (Kondagain News) जिले में एक गरीब किसान पिता की मदद के लिए बेटियां बैल की जगह खुद खेत जोतने लगीं. बेटियों की तस्वीर सामने आने के बाद अब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने मामले में संज्ञान लिया और परिवार को 4 लाख रुपये की आर्थिक मदद का भी ऐलान किया.

अधिक पढ़ें ...

कोंडागांव. छत्तीसगढ़  (Chhattisgrh)  के कोंडागांव जिले से एक बेहद ही मार्मिक मामला सामने आया है. यहां दो बेटियों ने अपने पिता की मदद के लिए बैलों की जगह खुद को रख लिया और खेत जोतने लगी. 22 साल की हेमबती और 18 साल की लखमी के द्वारा खेतों में हल जोतने की खबर सामने आते ही छत्तीसगढ़ सरकार हरकत में आ गई. इस पूरे मामले में  सूबे के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel)  ने ना केवल संज्ञान लिया, बल्कि उक्त परिवार को 4 लाख रुपये की आर्थिक मदद का भी ऐलान किया.

बताया जा रहा है कि विभिन्न माध्यमों से मामले के प्रकाश में आने के बाद राज्य सरकार ने पहले जिला कलेक्टर से पूरी जानकारी मंगवाई. इसके बाद सीएम बघेल ने दोनों बेटियों के हौसलों को सराहते हुए आर्थिक मदद देने की घोषणा की.

बेटियों ने पिता से कहा-यही खेत हमारी जिंदगी बदलेगी

मालूम हो कि  कोंडागांव जिले के उमरगांव के निवासी अमल साय एक गरीब किसान हैं. उनकी पत्नी भी ज्यादा पढ़ी-लिखी नहीं हैं. ऐसे में गरीबी की वजह से किसान अपनी बेटियों को पढ़ा नहीं पाए. उनकी आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो गई कि परिवार के भरण-पोषण के लिए  खेत बेचने की नौबत आ गई. लेकिन उस समय उनकी बेटियों ने पिता को रोकते हुए कहा कि आप हमारी जिंदगी बदलने के लिए खेत बेचना चाहते हैं, लेकिन इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी. यही खेत हमारी जिंदगी बदलेगी. हम आपका साथ देंगी.

बेटियों की मदद के बाद किसान अमल साय की खेती संभलने लगी लेकिन खेत जोतने के लिए बैल नहीं होने की वजह से दोनों बेटियां ही बैलों के बदले खेत जोतने लगी. दोनों बेटियों की हल चलाते हुए तस्वीर सामने आने के बाद ही सीएम ने मामले में संज्ञान लेते हुए मदद पहुंचाने की घोषणा की है.

ये भी पढ़ें: Rajasthan: बसपा सम्मेलन में नेता बोले- कांग्रेस ने हमें दो-दो बार ठगा, 2023 में लेंगे अपमान का बदला

पीसीसी चीफ मोहन मरकाम का गृह जिला है कोंडागांव

कोंडागांव की यह तस्वीर उस गांव की है, जहां से स्थानीय विधायक खुद पीसीसी चीफ मोहन मरकाम हैं. पूरे मामले की जानकारी पीसीसी चीफ तक पहुंची लेकिन राज्य सरकार के मदद के बाद उन्होंने केवल फोन पर हालचाल ही जाना.

Tags: Chhattisagrh news, CM Bhupesh Baghel, Farmer, Farmers

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर