धमतरी: जनपद अध्यक्ष के खिलाफ बीजेपी ने ठोका अविश्वास प्रस्ताव

धमतरी जनपद अध्यक्ष रंजना साहू के खिलाफ अविश्वास पत्र

धमतरी जनपद अध्यक्ष रंजना साहू के खिलाफ अविश्वास पत्र

धमतरी जनपद अध्यक्ष रंजना साहू के खिलाफ भाजपाई सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव ठोका है, जिसका कांग्रेस के सदस्य भी समर्थन कर रहे हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के ठीक पहले धमतरी की राजनीति में उथल पुथल मच गई है. यहां की जनपद अध्यक्ष रंजना साहू के खिलाफ भाजपाई सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव ठोक दिया है और तो और कांग्रेस के सभी सदस्यों ने इसका समर्थन भी कर दिया है. बता दें कि इस जनपद में कुल 25 सदस्य हैं, इसमें 11 सदस्य बीजेपी और 14 कांग्रेस के सदस्य हैं. इसमें से 17 ने अविश्वास प्रस्ताव पर दस्तखत कर दिए हैं. इस तरह से अब वर्तमान अध्यक्ष रंजना साहू की कुर्सी जाना तय माना जा रहा है.



मामले में जनपद कांग्रेस सदस्य बृजेश जगताप ने कहा कि शायद बीजेपी वालों के साथ उनकी अध्यक्ष रंजना साहू की अनबन हो गई थी. इसी क्रम में नाराजगी जाहिर करते हुए बीजेपी ने जनपद के कांग्रेस सदस्यों को बुलाकर बैठक की और अविश्वास प्रस्ताव लाने का निर्णय किया. ऐसे में ये अविश्वास प्रस्ताव बीजेपी लेकर आई है, जिसका वे सिर्फ समर्थन कर रहे हैं. हालांकि किस वजह से बीजेपी ये अविश्वास प्रस्ताव लेकर आई है, इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है.



वहीं धमतरी जनपद अध्यक्ष रंजना साहू कहना है कि ऐसा कुछ भी नहीं और शायद इस बात को गलत दिशा देने की कोशिश की जा रही है.





आपको बता दें कि जहां जिले में सभी ग्रामीण और नगरीय निकायों में बीजेपी का कब्जा था. ऐसे में इस अविश्वास प्रस्ताव को सत्ताधारी दल के लिए तगड़ा झटका कहा जा सकता है. इस महत्वपूर्ण राजनीतिक घटनाक्रम का चुनावी एंगल भी समझना जरूरी होगा.
दरअसल, रंजना साहू एक युवा भाजपाई हैं और एक बड़े पद में पदस्थ हैं. ऐसे में उन्हें विधानसभा टिकट का भी तगड़ा दावेदार माना जा रहा था. पार्टी के अंदर ही अन्य दावेदारों के लिए रंजना एक चुनौती बन रही थी, तो आशंका ये भी जताई जा रही है कि कहीं ये अपने लोगों द्वारा टिकट की लाइन से बाहर करवाने की साजिश का हिस्सा तो नहीं है.



बहरहाल, इस मामले पर कांग्रेस ने जनपद अध्यक्ष के खिलाफ सदस्यों की नाराजगी होना बताया है. वहीं बीते कुछ माह से जो रंजना साहू चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर करती रही थी. अब वो विरोधियों की चाल में फंसने के बाद विधानसभा चुनाव से दूर रहने के संकेत दे रही है.



ये भी पढ़ें:- केजरीवाल के फार्मूले पर धमतरी में चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज