बरसों पहले बनी कंपोजिट बिल्डिंग विकलांगों के लिए बनी बड़ी समस्या

छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में बरसों पहले बनी कंपोजिट बिल्डिंग अब विकलांगों के लिए एक बड़ी समस्या बन गई है. हालांकि शहर में इधर उधर बिखरे तमाम सरकारी दफ्तरों को एक जगह पर लाने में आम लोगों को सुविधा देने के उद्देश्य से इसे बनाया गया था.

Abhishek Pandey | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 13, 2018, 4:31 PM IST
बरसों पहले बनी कंपोजिट बिल्डिंग विकलांगों के लिए बनी बड़ी समस्या
बरसों पहले बनी कंपोजिट बिल्डिंग विकलांगों के लिए बनी बड़ी समस्या
Abhishek Pandey | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 13, 2018, 4:31 PM IST
छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में बरसों पहले बनी कंपोजिट बिल्डिंग अब विकलांगों के लिए एक बड़ी समस्या बन गई है. हालांकि शहर में इधर उधर बिखरे तमाम सरकारी दफ्तरों को एक जगह पर लाने में आम लोगों को सुविधा देने के उद्देश्य से इसे बनाया गया था. वहीं करोड़ों रुपए खर्च किए गए, लेकिन सुविधा की जगह अब ये लोगों के लिए समस्या बन चुकी है.

दरअसल, इस दो मंजिले भवन में आज तक लिफ्ट नहीं लगाई गई है, जिसका खामियाजा यहा सबसे ज्यादा विकलांगों और बेरोजगारों को भुगतना पड़ रहा है. शरीर से लाचार लोगों को रोजगार कार्यालय तक पहुंचने के लिए 50 सीढ़ियां चढ़नी और उतारनी पड़ती हैं. ऐसे में इस मुसीबत को एक विकलांग कितना और झेल सकता है. लेकिन शायद प्रशासन इस मामले में इतना संवेदनशील नहीं है. यही वजह है कि लिफ्ट की जरूरत रहने पर भी इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है. ऐसे में विकलांग युवा चाहते हैं कि ये दफ्तर ग्राउंड फ्लोर पर शिफ्ट कर दिया जाए.

वहीं इस मामले में जिला कलेक्टर चक्रवर्ती रामास्वामी प्रसन्ना ने बजट की समस्या का हवाला देते काम न होने का बात कही है. वहीं विकलांगों की तकलीफ को समझाने पर उन्होंने रोजगार दफ्तर को ग्राउंड फ्लोर पर शिफ्ट करने की बात कही है.
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Chhattisgarh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर