अपना शहर चुनें

States

Corona Virus: 31 मार्च तक गंगरेल में वाटर स्पोर्ट बंद, जगार प्रदर्शनी-2020 स्थगित

शोध के मुताबिक, 3 घंटे बाद एरोसोल में महज 12.5 फीसदी वायरस ही रह जाते हैं.
शोध के मुताबिक, 3 घंटे बाद एरोसोल में महज 12.5 फीसदी वायरस ही रह जाते हैं.

ये जानकारी उनके लिए महत्वपूर्ण है जो वीकेंड्स या छुट्टी के दिन गंगरेल की सैर के लिए योजना बना रहे है.

  • Share this:
रायपुर/धमतरी. कोरोना वायरस (Corona Virus) का असर अब भारत में भी देखने को मिल रहा है. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) सरकार भी इस वायरस (COVID-19) से बचाव के कड़े कदम उठा रही है. इसी कड़ी में सरकार ने धमतरी (Dhamtari) के गंगरेल (Gangrel) वाटर स्पोर्ट (Water Sports) को आगामी 31 मार्च तक के लिए बंद करने का आदेश जारी कर दिया है. सरकार द्वारा आदेश के मुताबिक गंगरेल बांध में कोई भी बोटिंग या जल क्रीड़ा नही की जा सकेगी. ये जानकारी उनके लिए महत्वपूर्ण है जो वीकेंड्स या छुट्टी के दिन गंगरेल की सैर के लिए योजना बना रहे है.

मालूम हो कि एहतियात के तौर पर सरकार ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों को 31 मार्च तक के लिए बंद रखने का आदेश दिया है. जारी आदेश में विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में परीक्षा संचालन के लिए सभी शैक्षणिक, गैर शैक्षणिक स्टाफ को नियमित रूप से उपस्थित होने को कहा गया है. केवल कक्षाओं का संचालन स्थगित रखने कहा गया है. साथ ही गरीय निकायों की सीमा के तहत स्थित सभी सार्वजनिक पुस्तकालय (लाइब्रेरी) तथा शासकीय, अर्धशासकीय और निजी व्यायाम शाला (जिम), स्विमिंग पूल (Swimming Pool) और वाॅटर पार्क (Water Park) को  31 मार्च 2020 तक बंद रखने का फैसला लिया गया है.

जगार प्रदर्शनी-2020 स्थगित



छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड ग्रामोद्योग विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ हाट पंडरी रायपुर में आयोजित होने वाले जगार प्रदर्शनी-2020 को सरकार ने स्थगित कर दिया है. मालूम हो कि इस 15 दिवसीय जगार प्रदर्शनी के आयोजन में छत्तीसगढ़ प्रदेश के विभिन्न विधाओं के शिल्पकार एवं हाथकरघा बुनकर समितियों के शिल्पकार - बुनकरों द्वारा तथा देश के लगभग 10-15 राज्यों से विभिन्न विधाओं के शिल्पकारों द्वारा यहां प्रदर्शनी लगाई जाती थी. सरकार ने कोरोना वायरस से एहतियात के तौर पर ये फैसला लिया है. विभागीय अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा एक एडवायजरी जारी कर इस आयोजन को स्थगित करने का फैसला लिया गया  है.
सरकार ने लिया ये फैसला

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य सरकार कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए जितनी भी राशि लगेगी उसे राज्य आपदा मोचन निधि (एसडीआरएफ) से प्रदान की जाएगी. मुख्यमंत्री ने इसके साथ ही कोरोना वायरस के परीक्षण के लिए प्रदेश में और अधिक टेस्ट सेंटर खोलने के निर्देश भी स्वास्थ्य विभाग के सचिव को दिए हैं. साथ ही सीएम बघेल ने अधिकारियों को छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस से बचाव, रोकथाम तथा दवाईयों और आवश्यक उपकरणों आदि की व्यवस्था के लिए स्टेट डिजास्टर रिपोंस फण्ड (एसडीआरएफ) से सभी आवश्यक इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं.



ये भी पढ़ें: 

कोरोना वायरस: 31 मार्च तक सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेज बंद, ये परीक्षाएं हुई स्थगित 
छत्तीसगढ़: होली ने तोड़ा सभी रिकॉर्ड, दो दिनों में बिक गई 100 करोड़ की शराब!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज