Assembly Banner 2021

धमतरी में 390 सरकारी स्वास्थ्य कर्मचारियों को बर्खास्त करने का आदेश

जानकारी देते सीएमएचओ डॉ. डी. के. तुर्रे

जानकारी देते सीएमएचओ डॉ. डी. के. तुर्रे

जिले के 390 सरकारी स्वास्थ्य कर्मचारियों को बर्खास्त करने का आदेश जारी किया है. बर्खास्त किए गए कर्मचारियों में बीईई, सुपरवाइजर, एलएचबी और आरएचओ शामिल हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के धमतरी कलेक्टर ने जिले के 390 सरकारी स्वास्थ्य कर्मचारियों को बर्खास्त करने का आदेश जारी किया है. बर्खास्त किए गए कर्मचारियों में बीईई, सुपरवाइजर, एलएचबी और आरएचओ शामिल हैं. छत्तीसगढ़ के सिविल सेवा आचरण अधिनियम 1965 की नियमों के उल्लंघन को आधार बनाकर ये कार्रवाई की गई है.

दरअसल, बीते 1 अगस्त से ये सभी कर्मचारी विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल पर चले गए थे. ग्राउंड लेवल पर काम करने वाले इन कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से सरकारी सवास्थ्य सेवा पूरी तरह चरमरा गई थी. इसमें खास तौर पर ग्रामीण इलाकों में जहां सरकारी अस्पताल ही इलाज का एक विकल्प होता है, वहां आम लोग काफी परेशान रहे. इनके हड़ताल पर चले जाने के कारण स्वास्थ्य विभाग की सभी योजनाएं थम गईं थी.

मालूम हो कि हड़तालियों पर सरकार का रुख कभी भी नरम नहीं रहा है, फिर भी उनकी हड़ताल लगातार जारी रही. शासन की तरफ से 3 बार अलग अलग नोटिस भेजकर हड़तालियों को कम पर लौटने की ताकीद की गई. अंतिम नोटिस बीते 29 अगस्त को भेजी गई थी, बावजूद इसके एक भी कर्मचारी काम पर नहीं लौटा. अत्यावश्यक सेवाओं से जनता को वंचित रखने का जिम्मेदार ठहराकर अब सभी हड़ताली 390 कर्मचारियों की सेवा समाप्त कर दी गई है. उम्मीद है जल्द ही रिक्त पदों पर नए कर्मचारियों की भर्ती की जाएगी. ताकि स्वास्थ्य सेवाएं वापस पटरी पर लौट सके. मामले की जानकारी सीएमएचओ डॉ. डी. के. तुर्रे ने दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज