धमतरी सड़क हादसा: मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये देगी सरकार

छत्तीसगढ़ सरकार ने घटना में मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है.

News18 Chhattisgarh
Updated: July 30, 2019, 5:22 PM IST
धमतरी सड़क हादसा: मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये देगी सरकार
छत्तीसगढ़ सरकार ने घटना में मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है.
News18 Chhattisgarh
Updated: July 30, 2019, 5:22 PM IST
छत्तीसगढ़ के धमतरी व बालोद जिले की सीमा पर चिटौद में मंगलवार की सुबह भीषड़ सड़क हादसा हो गया. यहां दो बस आपस में आमने सामने से टकरा गईं. इस हादसे में दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि 45 लोग घायल हो गए. घायलों में सात की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है. इस भीषण सड़क हादसे पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संवेदना व्यक्त की है. साथ ही घायलों को पूरी मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश प्रशासन को दिए हैं.

छत्तीसगढ़ सरकार ने घटना में मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है. साथ ही गंभीर घायलों को 25-25 हजार व अन्य घायलों को 10-10 हजार रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है. घायलों को जिला चिकित्सालय धमतरी में भर्ती कराया गया है, जबकि गम्भीर रूप से घायल हुए सात यात्रियों को मेकाॅहारा रायपुर में इलाज के लिए लाया गया है.


Loading...

अस्पताल पहुंचे अफसर
मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद धमतरी कलेक्टर रजत बंसल एवं एसपी बालाजी राव ने घायलों का हालचाल जानने जिला चिकित्सालय पहुंचकर उनके बेहतर से बेहतर उपचार के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया. बता दें कि राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-30 पर धमतरी जिले की सरहद से लगे बालोद जिले के ग्राम चिटौद के पास आज सुबह लगभग 8.20 बजे जगदलपुर से रायपुर आ रही कांकेर रोडवेज के बस क्रमांक सीजी 09 एफ 6003 एवं रायपुर से जगदलपुर की ओर जा रही पायल ट्रेवल्स के बस क्रमांक सीजी 07 ई 8090 में आमने-सामने से टक्कर हो गई.

रीवां निवासी की मौत
हादसे में बस सवार दो व्यक्तियों की मौत हो गई है, जिनमें से एक वाहन चालक मध्यप्रदेश के रीवां निवासी धर्मेन्द्र ठाकुर है. जबकि दूसरे मृत व्यक्ति की शिनाख्ती फिलहाल नहीं हुई है. उक्त सड़क दुर्घटना में गम्भीर रूप से घायल हुए सात यात्रियों को रायपुर स्थित पंडित जवाहरलाल नेहरू मेडिकल काॅलेज हाॅस्पिटल में लाया गया है. यहां इलाज जारी है.

ये भी पढ़ें: यहां घोड़ों को हाई डोज इंजेक्शन देकर मार रही है 'सरकार', जानें क्यों? 

ये भी पढ़ें: यात्रीगण ध्यान दें, अगस्त में रद्द रहेंगी रायपुर से गुजरने वाली ये ट्रेनें
First published: July 30, 2019, 5:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...