छत्तीसगढ़ में करीब 1 लाख किसान नहीं ले सकेंगे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ, जानें क्यों?

छत्तीसगढ़ (CHHATTISGARH) के धमतरी जिले में इस साल खरीफ सीजन में 1 लाख 40 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में धान सहित अन्य फसलों की बोनी का लक्ष्य रखा गया है.

Abhishek Pandey | News18 Chhattisgarh
Updated: August 8, 2019, 7:00 PM IST
छत्तीसगढ़ में करीब 1 लाख किसान नहीं ले सकेंगे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ, जानें क्यों?
छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में कृषि विभाग की उदासीनता के चलते हजारों किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ से इस साल भी वंचित रह जाएंगे.
Abhishek Pandey | News18 Chhattisgarh
Updated: August 8, 2019, 7:00 PM IST
छत्तीसगढ़ (CHHATTISGARH) के धमतरी जिले में कृषि विभाग की उदासीनता के चलते हजारों किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ से इस साल भी वंचित रह जाएंगे. यहां कुल 1 लाख 54 हजार पंजीकृत किसानों में से सिर्फ 56 हजार किसानों ने ही सरकारी बैंकों में बीमा कराया है. इधर बीमा की अवधि का समय भी बीत गया. ऐसे में फसल आपदा की स्थिति में हजारों किसानों को इसका लाभ नहीं मिल सकेगा.

दरअसल धमतरी जिले में इस साल खरीफ सीजन में 1 लाख 40 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में धान सहित अन्य फसलों की बोनी का लक्ष्य रखा गया है. यहां कुल 1 लाख 54 हजार पंजीकृत किसान हैं. खेती किसानी के दौरान फसल पर किसी तरह की आपदा की स्थिति में भरपाई के लिए सरकार की ओर से किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा भी कराया गया, लेकिन इससे अधिक से अधिक किसानों को लाभान्वित कराने की दिशा में संबंधित अधिकारियों ने न उन्हें प्रेरित किया और न किसानों ने आपेक्षित रुचि दिखाई. यही कारण है कि बड़ी संख्या में किसान फसल बीमा कराने से वंचित रह गए. फसल बर्बाद होने पर किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

Demo Pic.


हैरान करने वाले हैं आंकड़े

कृषि विभाग के अनुसार फसल बीमा पंजीयन के लिए शासन 31 जुलाई की तिथि निर्धारित की थी, लेकिन इस अवधि तक कृषि विभाग के पास पीएम फसल बीमा का जो आंकड़ा आया वह हैरान कर देने वाला है. अंतिम तिथि तक जिले के सभी 11 सहकारी बैंकों के माध्यम से कुल 56 हजार 31 किसानों ने ही फसल बीमा कराया है. जबकि जिले भर में किसानों की संख्या करीब डेढ़ लाख है. इस तरह देखा जाए तो 98 हजार किसानों ने फसल बीमा नहीं कराया. धमतरी के जिला कृषि अधिकारी एलपी अहिरवार का कहना है कि इस बार फसल बीमा के लिए बैंकों में ऑनलाइन पंजीयन किया गया था. जिन किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया है, उनको योजना का लाभ मिलेगा.

ये भी पढ़ें: Article 370: सीएम भूपेश बघेल ने कहा- 'लगता है अब सबके खाते में आ जाएंगे 15 लाख रुपये' 

ये भी पढ़ें: भूपेश सरकार ने खत्म की वैट की रियायत, इतने रुपये महंगा हो गया पेट्रोल-डीजल 
First published: August 8, 2019, 6:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...