अपना शहर चुनें

States

छत्तीसगढ़ के इस गांव में एक हफ्ते पहले से मनाई जाती है होली, जानें खास परंपरा

धमतरी के इस गांव में होली की एक अनोखी परंपरा मानी जाती है. (file photo)
धमतरी के इस गांव में होली की एक अनोखी परंपरा मानी जाती है. (file photo)

ग्रामीणों की मानें तो अगर कोई शख्स इस परंपरा को तोड़ने की जुर्रत करने पर कोई ना कोई अनहोनी जरूर होती है.

  • Share this:
धमतरी. रंगों का त्योहार होली वैसे तो 10 मार्च को मनाई जा रही है, लेकिन छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के एक गांव में एक हफ्ते पहले होली (Holi 2020) खेलने की परंपरा है. अपने इस अनोखे दस्तूर के चलते धमतरी (Dhamtari) जिला का सेमरा गांव काफी फेमस है. हफ्तेभर पहले ही त्योहार मनाने की सदियों पुराने इस परंपरा को मौजूदा पीढ़ियां भी आगे बढ़ा रही हैं. अब वो चाहे दिवाली हो या फिर दशहरा, हर त्योहार ऐसे ही मनाया जाता है. ग्रामीणों की मानें तो अगर कोई शख्स इस परंपरा को तोड़ने की जुर्रत करने पर कोई ना कोई अनहोनी जरूर होती है. अलग तरीके से होली मनाने की ये परंपरा अब इस गांव की पहचान बन गई है.

सालों पुरानी है परंपरा

वक्त जरूर बदला लेकिन धमतरी के सेमरा गांव का दस्तूर आज भी कायम है. धमतरी से करीब 22 किमी दूर इस गांव में हफ्तेभर पहले ही त्योहार मनाने का अनोखा दस्तूर है. अब वो चाहे दिवाली का हो या फिर दशहरा इस नियम के पीछे सदियों पुरानी एक दास्तान को माना गया है. गांव के राधेष्याम निशाद बताते हैं कि सदियों पहले गांव के देवता सिदार ने सपने में एक शख्स को कहा था कि हर त्योहार मनाने से पहले उन्हें हूमधूप देना जरूरी है. इसके चलते आज भी गांव के लोग अपने गांव के देवता को खुश करने हर त्योहार हफ्तेभर पहले मनाते आ रहे हैं जो अब एक परंपरा बन गई है.



लोगों की मान्यता
भले ही आज के जमाने के लोग इस पर यकिन ना करें लेकिन बताया जाता है कि एैसा नहीं करने से उन पर आफत आ सकती है. सेमरा गांव के सरपंच सुधीर भल्लाल कहते हैं कि अगर कोई व्यक्ति इस परंपरा को तोड़ने की कोशिश करता है तो उसके सााथ कुछ बुरा हो सकता है. हैरान करने वाली बात ये है कि सदियों से चली आ रही इस परंपरा को युवा वर्ग भी अन्धविश्वास के बजाए आस्था से जोड़कर देखता है. गांव के युवाओं का कहना है कि इसी दस्तूर के बहाने उन्हें अपने रिश्तेदारों से मिलने और मेहमाननवाजी का मौका मिल जाता है जो गांव में त्योहार देखने आते हैं.

ये भी पढ़ें: आदिवासियों पर दर्ज 91 प्रकरणों को वापस लेगी भूपेश बघेल सरकार

अनुराग ठाकुर का CM भूपेश बघेल पर तंज,कहा- सवालों के घेरे में सवाल उठाने वाले
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज