अपना शहर चुनें

States

धमतरी के इन पंचायतों में निर्विरोध चुने गए नेता, शासन ने देगी 2-2 लाख रुपये इनाम

छत्तीसगढ़ में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया चल रही है.
छत्तीसगढ़ में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया चल रही है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धमतरी (Dhamtari) जिले में 370 पंचायतो में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) के लिये प्रचार प्रसार जोरों पर है.

  • Share this:
धमतरी. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धमतरी (Dhamtari) जिले में 370 पंचायतो में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) के लिये प्रचार प्रसार जोरों पर है. गांव-गावं के लोग पंच और सरपंच के चुनाव में दो-दो हाथ करने के लिये कमर कस चुके हैं. हजारों की संख्या में नामांकन फार्म भरे गए हैं. सभी गांव की सरकार में अपनी हिस्सेदारी के लिये चुनावी जंग की सभी हदें पार करने को आतुर हैं. अभी निर्वाचन आयोग स्क्रूटनी कर रहा है. फिर नाम वापसी होगी. फिर अंतिम सूची जारी होगी. फिर मतदान होगा और फिर नतीजे आएंगे, लेकिन इस गरम चुनावी माहौल में जिले के कुछ ऐसे गांव भी हैं, जिन्होने आदर्श लोकतंत्र की मिसाल पेश की है.

धमतरी (Dhamatari) के पांच पंचायतों ने आपसी सहमति से अपनी पंचायत बॉडी चुन ली है. यहां न नामांकन, न स्क्रूटनी, न प्रचार और न ही मतदान. आपस में मिल बैठ कर अपना सरदार चुन लिया गया. ग्रामीणों का कहना है कि इसका सबसे बड़ा सकारात्मक प्रभाव ये है कि एक परिवार के जैसे रहने वाले गांव में लोगों के बीच चुनाव के कारण कोई आपसी रंजिश नहीं होगी.

इन गांवों में निर्विरोध चुनाव
धमतरी के मगरलोड ब्लाक का गाड़ाडीह, नगरी ब्लॉक के तीन गांव मोदे, संबलपुर और बोडरा व धमतरी का जुनवानी पंचायत ने न सिर्फ आदर्श पंचायत की मिसाल पेश की. बल्कि निर्वाचन और प्रचार में होने वाला खर्च भी बचा दिया. धमतरी के जिला निर्वाचन अधिकारी रजत बंसल ने बताया कि ऐसे सभी पंचायतों के शासन की तरफ से बतौर इनाम 2-2 लाख की राशि दिये जाने का फौसला किया गया है.
ये भी पढ़ें:


नए साल का तोहफा: सात हजार शिक्षाकर्मियों को जल्द नियमित करेगी सरकार 

मंत्रियों के साथ CM भूपेश बघेल ने देखी फिल्म छपाक, BJP पर लगाए ये आरोप 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज