Assembly Banner 2021

हिंदू बने मुस्लिम व्यक्ति ने पत्नी को पाने के लिए खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने छत्तीसगढ़ सरकार से जवाब मांगा है और याचिका की प्रति राज्य सरकार के महाधिवक्ता को देने का निर्देश दिया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में 23 साल की एक हिंदू लड़की से शादी करने के लिए मुसलमान से हिंदू बन गए 33 वर्षीय एक व्यक्ति ने अपनी प्रेमिका को उसके माता-पिता के कब्जे से आजाद कराने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने छत्तीसगढ़ सरकार से इस मामले में जवाब मांगा है और याचिका की प्रति राज्य सरकार के महाधिवक्ता को देने का निर्देश दिया है.

पीठ ने कहा, ‘छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के पुलिस अधीक्षक को प्रतिवादी नंबर 4, अशोक कुमार जैन की बेटी अंजलि जैन को 27 अगस्त,2018 को अदालत में पेश करने का निर्देश दिया जाता है.’ पीठ ने अदालत के अधिकारियों को इस आदेश की प्रति पुलिस अधीक्षक को भेजने का निर्देश दिया.

हिंदू बनकर आर्यन आर्य नाम अपना चुके मोहम्मद इब्राहिम सिद्दीकी ने छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती दी है और कहा है कि उसने उसकी पत्नी के परिवार को उसे मुक्त करने का आदेश देने से इनकार कर गलती की है. उसने कहा कि उसकी और उसकी पत्नी की जान को खतरा है. उसकी पत्नी को उसके माता-पिता उसकी मर्जी के विरुद्ध स्वतंत्रता से वंचित कर रहे हैं. उसे भी उसकी पत्नी के घर वाले और समाज के कुछ अन्य कट्टरपंथी तत्व धमकी दे रहे हैं.



उसने कहा कि उसकी पत्नी ने हाईकोर्ट में कहा कि वह 23 साल की है और बालिग है तथा अपनी मर्जी से उसने मोहम्मद इब्राहिम सिद्दीकी से शादी की है. उच्च न्यायालय ने उसे अपने माता-पिता के साथ रहने या छात्रावास में उसके रहने का इंतजाम कराने का निर्देश दिया है. दोनों ने 25 फरवरी, 2018 को रायपुर में एक आर्य समाज मंदिर में शादी की थी.
ये भी पढे़ं - 

बारिश का कहर: बाढ़ से अब तक 1500 एकड़ फसल बर्बाद, 3 करोड़ का नुकसान


प्रदेश में डेंगू से 20 की मौत, दो दिन में भिलाई से रायपुर लाए गए 60 मरीज


VIDEO: कोंडागांव में महामारी घोषित होने के बावजूद प्रशासन उदासीन

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज