• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • Dhamtari News: गार्डनिंग के एक आइडिया ने बदली इस महिला की किस्मत, अब लाखों में कमाई

Dhamtari News: गार्डनिंग के एक आइडिया ने बदली इस महिला की किस्मत, अब लाखों में कमाई

श्रुति गार्डनिंग के शौक से लाखों की कमाई कर रही हैं.

श्रुति गार्डनिंग के शौक से लाखों की कमाई कर रही हैं.

Chhattisgarh News: धमतरी की श्रुति अग्रवाल (Shruti Agarwal) सिर्फ 4 हजार वर्ग फीट की छत से लाखों की कमाई कर रही हैं. श्रुति दुर्लभ पौधों और फूलों का व्यापार करती हैं.

  • Share this:

धमतरी. कहते हैं कि बड़ी कामयाबी के लिए जुनून जरूरी है और अगर शौक ही जुनून बन जाए तो कामयाबी आपके कदम चूमती है. धमतरी (Dhamtari) की श्रुति अग्रवाल (Shruti Agarwal) के गार्डनिंग का शौक उनका जुनून बन गया. दुर्लभ पौधों और फूलों के व्यापार से वो लाख रुपए महीने का कमा रही हैं वो भी सिर्फ 4 हजार वर्गफुट की छत से. इस कामयाबी के पीछे उनकी मेहनत के साथ सोशल मीडिया की बड़ी भूमिका है. श्रुति ने चार हजार वर्गफुट की छत पर पौधों की गार्डनिंग शुरू की. इस पौधों की कीमत लाखों में है. श्रुति की इस रूफ नर्सरी में दुर्लभ फूल और पौधें हैं. ऐसे-एसे फूल है जिनकी कीमत लाख तक होती है. कुछ दुर्लभ पौधे ऐले है जो ठंडे पहाड़ी इलाको में ही पनपते है, लेकिन यहां आपको वो भी मिल जाएंगे.

दरअसल, धमतरी की गृहणी श्रुति अग्रवाल की 6 साल की मेहनत का यह परिणाम है. बागवानी की शौकीन श्रुति ने अपने घर में 6 साल पहले कुछ सजावटी पौधे और फूल लगाए. फिर फेसबुक में अपने जैसे शौकीनों से जुड़ी.. जानकारी बढ़ती गई और नेटवर्क भी बढ़ता गया. फिर फेसबुक फ्रेंडस से ही वो पौधे खरीदने लगी. पेमेंट आनलाइन होता रहा. फूल पौधों का कलेक्शन बढ़ा तो घर के अंदर से गमले छत पर रखने लगी. फिर छत पर हरियाली का अच्छा खासा खजाना जमा हो गया जिनकी देखभाल के लिए वो माली रखने लगी. फिर सोचा जैसे वो खरीदती है वैसे बेच भी तो सकती है. बस यहीं से शौक व्यापार में बदल गया. आज श्रुति फूल और पौधों की खास प्रजातियां बेच कर एक लाख रूपय महीने तक कमाती हैं.

श्रुति ने छत पर उगाए कई तरह के पौधे

श्रुति ने बताया कि उनके पास फर्न, आर्किड और वाटर लीली जैसे दुर्लभ और महंगी वनस्पतियां है जो छत्तीसगढ़ के विपरीत मौसम में भी अच्छे से पनप रही है. छत्तीसगढ़ की जलवायु में यूरोपीयन और हिमालयन पौधों को उगाना श्रुति की बड़ी कामयाबी है. इसके पीछे बोटेनिकल साइंस की समझ और जानकारी है. ये भी उन्हें फेसबुक से ही मिली है. श्रुति के ज्यादातर ग्राहक दूसरे शहर या दूसरे प्रदेश के होते है जिन्हें वो कोरियर के जरिए डिलिवरी देती है. सारा पेमेंट एडवांस में ऑनलाइन लेती है. इस कारोबार में वो 5 – 6 लोगों को रोजगार भी दे रही है.

ये भी पढ़ें: REET Exam 2021 : परीक्षा के दिन इंटरनेट बंद करने की तैयारी, जयपुर में नहीं खुलेंगे बाजार, मिलेंगी ये सेवाएं

अब इतनी कमाई शुरू हो जाने के बाद छत छोटी पड़ने लगी है. श्रुति अपनी छत से निकल कर जमीन पर बड़ा नर्सरी शुरू करने की तैयारी में है जहां उत्पादन भी बड़े पैमाने पर होगा. श्रुति के पति का ट्रैक्टर का व्यवसाय है. उनके पति शलज अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने शुरू में थोड़ी सी मदद श्रुति की थी. बाकी सब कुछ श्रुति ने अपनी मेहनत और लगन से हासिल किया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज