Assembly Banner 2021

सरकार की सख्ती से नाराज किसानों ने धान फेंक कर किया प्रदर्शन, बताई परेशानी

व्यापारियों ने किसानों का धान खरीदना बन्द कर दिया है.

व्यापारियों ने किसानों का धान खरीदना बन्द कर दिया है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धमतरी (Dhamtari) में लगातार धान परिवहन (Paddy Transport) पर जब्ती की कार्रवाई भी चल रही है.

  • Share this:
धमतरी. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धमतरी (Dhamtari) एक तरफ सरकार किसानों (Farmer) का धान (Paddy) न खुद खरीद रही है और लगातार धान परिवहन पर जब्ती की कार्रवाई भी चल रही है. जिसके कारण अब व्यापारियों ने भी किसानों का धान खरीदना बन्द कर दिया है. इसका सीधा असर किसानों की आर्थिक स्थिति पर पड़ा है. बताया जा रहा है किसानों के पास अपनी छोटी बड़ी जरूरतों के लिए भी नगदी नहीं है. अमूमन किसान हर साल अपनी उपज बेच बेच कर ही पैसे हासिल करते रहे हैं. इस साल किसान बेचने खड़ा है, लेकिन खरीदने वाला कोई नहीं है.

धमतरी (Dhamtari) के किसानों (Farmer) का कहना है कि इस हालात में अब वे त्रस्त हो चुके हैं. धमतरी के नगरी इलाके के गांव घुरावड़ में साप्ताहिक बाजार में जब धान बेचने पहुंचे किसानों को कोई खरीदार ही नहीं मिला. तब नाराज किसानों ने सड़क पर अपना धान फेंक कर प्रदर्शन शुरू कर दिया. किसानों की मांग है कि या तो फौरन सरकार धान खरीदी करे या फिर व्यापारियों को खरीदने दे.

सुकमा में भी ऐसा ही प्रदर्शन
बता दें कि करीब सप्ताहभर पहले सुकमा में भी इसी तरह का प्रदर्शन किसानों ने किया था. सुकमा में व्यापारी किसानों से धान नहीं खरीद रहे थे. इससे परेशान किसानों ने धान को बाजार में ही फेंक दिया और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. बता दें कि पड़ोसी राज्यों से धान के अवैध परिवहन की आशंका से सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है. इसके तहत बगैर प्रमाण के रखे गए धान जब्त किए जा रहे हैं. इसके चलते ही व्यापारी किसानों से धान नहीं खरीद रहे हैं.
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में बिक रहा है जहरीले एफ्लाटॉक्सिन एम-1 मिला दूध, FSSAI की रिपोर्ट में खुलासा 



छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के बंद टॉयलेट में मिली युवक की लाश, GRP कर रही जांच 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज