बैकफुट पर आए नक्सली धमतरी में कर सकते है बड़ी वारदात, फोर्स तैयार कर रही ये रणनीति

सूचना तंत्र बिखरने के बाद नक्सली बेहद कमजोर हो चुके है.

Abhishek Pandey | News18 Chhattisgarh
Updated: July 12, 2019, 12:56 PM IST
बैकफुट पर आए नक्सली धमतरी में कर सकते है बड़ी वारदात, फोर्स तैयार कर रही ये रणनीति
नक्सलियों को घेरने सुरक्षा बल के जवानों ने नई रणनीति तैयार की है.
Abhishek Pandey | News18 Chhattisgarh
Updated: July 12, 2019, 12:56 PM IST
छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में 20 लाख के 5 इनामी नक्सलियों को मारने के बाद अब सुरक्षा बल इस बेल्ट से ही माओवाद को उखाड़ने की तैयारी में है. जानकारी के मुताबिक डीआईजी एंटी नक्सल ऑपरेशन के नेतृत्व में धमतरी के 50 गांव को फोर्स ने घेर लिया है. वहीं सूचना तंत्र बिखरने के बाद नक्सली बेहद कमजोर हो चुके है.

सूचना तंत्र बिखरने से नक्सली मुसीबत में



जानकारी के मुताबिक 18 जून से 6 जुलाई तक धमतरी में 20 लाख के 5 इनामी नक्सलियों को सुरक्षा बल के जवानों ने सफल ऑपरेशन कर ढेर करने में सफलता हासिल की है. वहीं दूसरी तरफ नक्सली लगातार मात खाने के बाद बैकफुट पर है. पुलिस की इस कामयाबी का दूसरा मतलब ये भी है की नक्सलियों का सबसे ताकतवर हथियार यानि की उनका सूचना तंत्र भी ध्वस्त हो गया है. यानि की अभी नक्सली सबसे कमजोर स्थिति में भी. इस मौके का फायदा उठाने की फोर्स अब पूरी कोशिश कर सकता है.

जवानों ने 50 गांवों में की घेराबंदी

फोर्स द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन के कारण नक्सली अब बैकफुट पर आ गए है. जानकारी के मुताबिक धमतरी के नक्सल प्रभावित इलाके के 50 गांवों की घेराबंदी कर दी है. डीएफ. सीआरपीएफ, डीआरजी एसटीएफ की संयक्त टीम अत्याधुनिक अस्त्र-शस्त्र के साथ जंगल में घुस चुकी है. मालूम हो कि बारिश का मौसम के कारण भी नक्सलियों को घरने के लिए इसे मुनासिब मना जा रहा है.

chhattisgarh news, छत्तीसगढ़ latest news, छत्तीसगढ़ समाचार, Chhattisgarh samachar,Chhattisgarh news in hindi, dhamtari, dhamtari news, naxali, naxali in dhamtari, anti naxal operation in dhamtari, धमतरी, धमतरी न्यूज, धमतरी में नक्सली, धमतरी में एंटी नक्सल ऑपरेशन, नक्सली वारदात
धमतरी के नक्सल प्रभावित इलाके के 50 गांवों की घेराबंदी कर दी गई है.


बतातें है कि धमतरी में सीतानदी के कमांडर सीमा के मारे जाने के बाद सीतानदी दलम भी कमजोर स्थिति में है. अब जो बड़े नक्सली लीडर जो सीतानदी इलाके में बच गए है उनकी तलाश की जा रही है. जानकारी के मुताबिक नक्सली लीडर सत्यम गावड़े, हार्डकोर नक्सली रुपेश दीपक टिकेश और जानसि गावड़े की तलाश के लिए फोर्स ने घेराबंदी कर दी है. अगर सुरक्षाबल इन्हे पकड़ने या मार गिराने में सफलता हासिल कर लेती है तो धमतरी सहित गरियाबंद और ओडिशा से लगे इलाके में माओवाद की कमर पूरी तरह टूट जाएगी.
Loading...

chhattisgarh news, छत्तीसगढ़ latest news, छत्तीसगढ़ समाचार, Chhattisgarh samachar,Chhattisgarh news in hindi, dhamtari, dhamtari news, naxali, naxali in dhamtari, anti naxal operation in dhamtari, धमतरी, धमतरी न्यूज, धमतरी में नक्सली, धमतरी में एंटी नक्सल ऑपरेशन, नक्सली वारदात
खूफिया तंत्र खत्म होने के बाद नक्सली कमजोर हो गए है.


एएसपी केपी चंदेल ने जानकारी देते हुए बताया कि माओवादियों के इस पूरे कुनबे में सत्यम गावड़े ही सबसे बड़ी चूनौती है जो की जानसि गावड़े का पति है. सत्यम 2007 से माओवादियों से जुड़ा हुआ है. कांकेर जिले के कोयलीबेड़ा थाना इलाके के कुरसेबोड का रहने वाला सत्यम गावड़े एक बार गिरफ्तार भी हो चूका है. लेकिन पर्याप्त सबूतों की कमी के चलते वो रिहा हो गया और फिर से नक्सली गतिविधि में सक्रिय हो गया.

ये भी पढ़ें:

सुकमा में जवानों पर बड़ा हमला कर सकते है नक्सली, कैंपों में हाई अलर्ट जारी 

सुकमा में आरक्षक की गला रेतकर हत्या, लाश सड़क पर फेक फरार हुए बदमाश
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...