Home /News /chhattisgarh /

आप नेता सोनी सोरी पर हमला, कुछ लोगों ने चेहरे पर लगाया ग्रीस

आप नेता सोनी सोरी पर हमला, कुछ लोगों ने चेहरे पर लगाया ग्रीस

  • Agencies
  • Last Updated :
    छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में आम आदमी पार्टी की नेता सोनी सोरी पर अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया है. सोरी को बेहतर इलाज के लिए जगदलपुर भेजा गया है.

    दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के गीदम थाना क्षेत्र के अंतर्गत जवांगा गांव के करीब अज्ञात लोगों ने आम आदमी पार्टी की नेता सोनी सोरी पर हमला कर दिया है और उसके चेहरे पर ग्रीस जैसा कुछ पदार्थ पोत दिया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

    पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सोरी शनिवार को अपने दो अन्य साथियों के साथ जगदलपुर से अपने गृहग्राम गीदम के लिए मोटरसाइकिल से रवाना हुई थी. सोरी बस्तानार घाट पार करने के बाद जब जवांगा गांव के करीब पहुंची तब कुछ मोटरसाइकिल सवार लोगों ने उन्हें घेर लिया और उनके साथ धक्कामुक्की करते हुए उनके चेहरे पर ग्रीस जैसा पदार्थ लगा दिया. घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर वहां से भाग गए. उन्होंने बताया कि घटना के बाद जब सोरी के चेहरे में जलन होने लगी तब वह सीधे गीदम के अस्पताल गई और पुलिस को भी मामले की जानकारी दी गई.

    पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गीदम के अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि हमलावरों ने सोरी के चेहरे पर ग्रीस या बाम जैसा कछ पदार्थ लगा दिया है जिससे चेहरे में जलन हो रही है. सोरी को बेहतर इलाज के लिए बस्तर जिले के मुख्यालय जगदलपुर के लिए रवाना कर दिया गया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

    इधर राज्य में आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक संकेत ठाकुर ने आरोप लगाया है कि बस्तर में मानवाधिकार उल्‍लंघन के मामलों को उठाने के कारण सोरी पर हमला किया गया है. ठाकुर ने कहा कि अज्ञात लोगों द्वारा कुछ दिनों पहले सोरी को जान से मारने की धमकी दी गई थी. जिसकी शिकायत पुलिस से की गई थी. लेकिन पुलिस ने सोरी को सुरक्षा प्रदान नहीं किया है.

    दंतेवाड़ा जिला निवासी सोनी सोरी पर नक्सली सहयोगी होने के आरोपों के बाद उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. बाद में वह जमानत पर रिहा हो गई. शिक्षिका सोरी बाद में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गई और वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में वह आम आदमी पार्टी की टिकट से बस्तर लोकसभा क्षेत्र चुनाव भी लड़ी थी. हालंकि वह चुनाव हार गई थी.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर