Home /News /chhattisgarh /

Chhattisgarh Nikay Chunav: सियासी सरगर्मी तेज, BJP-कांग्रेस के लिए दुर्ग बना प्रतिष्ठा का सवाल

Chhattisgarh Nikay Chunav: सियासी सरगर्मी तेज, BJP-कांग्रेस के लिए दुर्ग बना प्रतिष्ठा का सवाल

राजनीतिक दलों का सबसे ज्यादा फोकस दुर्ग जिले के चार नगरीय निकाय, भिलाई चरौदा, रिसाली, भिलाई नगर निगम सहित जामुल नगर पालिका परिषद पर है.

राजनीतिक दलों का सबसे ज्यादा फोकस दुर्ग जिले के चार नगरीय निकाय, भिलाई चरौदा, रिसाली, भिलाई नगर निगम सहित जामुल नगर पालिका परिषद पर है.

Chhattisgarh Nikay Chunav: छत्तीसगढ़ में निकाय चुनाव को लेकर सियासी संग्राम तेज हो गई है. ऐसे में सबकी निगाहें दुर्ग जिले पर टिक गई है. दरअसल, दुर्ग बीजेपी और कंग्रेस दोनों के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है. यही वजह है कि दुर्ग जिले के चार नगरीय निकाय, भिलाई चरौदा, रिसाली, भिलाई नगर निगम सहित जामुल नगर पालिका परिषद पर जीत के लिए राजनीतिक दलों ने पूरी ताकत लगा दी है. बता दें कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 10 जिलों के 15 नगरीय निकायों में चुनाव होने वाले हैं. 20 दिसंबर को वोटिंग और 23 दिसंबर को मतगणना होगी.

अधिक पढ़ें ...

 दुर्ग. छत्तीसगढ़ में नगरीय निकाय चुनाव (Chhattisgarh urban body elections 2021) होने वाले हैं. ऐसे में राज्य चुनावी मैदान का अखाड़ा बना हुआ है. प्रदेश में निकाय चुनाव 10 जिलों में होगा लेकिन दुर्ग जिला सबसे अहम माना जा रहा है.  राजनीतिक दलों का सबसे ज्यादा फोकस दुर्ग जिले के चार नगरीय निकाय, भिलाई चरौदा, रिसाली, भिलाई नगर निगम सहित जामुल नगर पालिका परिषद पर है.  इन चारों सीट पर जीत हासिल करने के लिए कांग्रेस से लेकर बीजेपी ने पूरी ताकत झोंक दी है. बता दें कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 10 जिलों के 15 नगरीय निकायों में चुनाव होने वाले हैं. 20 दिसंबर को वोटिंग और 23 दिसंबर को मतगणना होगी. इस साल भी निकाय चुनाव बैलेट पेपर से ही होंगे.

दुर्ग जिले के चार सीट कांग्रेस के लिए नाक का सवाल इसलिए बन गया हैं क्योंकि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद दुर्ग जिले से आते हैं. वहीं गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू के विधानसभा क्षेत्र में रिसाली नगर निगम, पीएचई मंत्री गुरु रूद्र कुमार के क्षेत्र में भिलाई-चरौदा नगर निगम और जामुल नगर पालिका परिषद है.

ऐसे में दुर्ग जिले के इन चारों निकाय में जीत के लिए कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है. आवास एवं परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर को चारों निकायों के लिए प्रभारी बनाया गया है. वहीं अन्य मंत्रियों को भी अप्रत्यक्ष जिम्मेदारियां दी गई है. दुर्ग जिले की चारों सीट कांग्रेस के लिए नाक का सवाल इसलिए भी बना हुआ है क्योंकि दुर्ग संभाग से ही मंत्री रविंद्र चौबे, अनिला भेड़िया और अकबर भी आते हैं.

दुर्ग जिले के चुनाव हॉटस्पॉट बनने और जीत-हार को लेकर सूबे के पीएचई मंत्री गुरु रुद्र कुमार का कहना है कि कांग्रेस ना केवल दुर्ग की चारों बल्कि 15 के 15 निकायों में बहुमत के साथ आएगी और अपना महापौर-अध्यक्ष बनाएगी. बीते तीन सालों में कांग्रेस की सरकार ने जो विकास कार्य किए हैं, वह बीते 15 सालों के बीजेपी राज में नहीं हो पाया था.

बीजेपी की होगी बड़ी जीत- बृजमोहन अग्रवाल

दुर्ग जिले की चारों सीट जहां कांग्रेस के लिए नाक का सवाल बनी हुई है. वहीं बीजेपी भी इसे प्रतिष्ठा मान कर चल रही है. राज्यसभा सांसद डॉ सरोज पाण्डेय, पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय, लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा वोटों से जीतने वाले सांसद विजय बघेल भी इसी दुर्ग जिले से आते हैं. यही वजह हैं कि बीजेपी ने नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक को रिसाली नगर निगम, बीजेपी प्रदेश महामंत्री भूपेंद्र सवन्नी को भिलाई नगर निगम, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल को भिलाई चरौदा नगर निगम का प्रभारी बनाया है. साथ ही अन्य वरिष्ठ नेताओं को भी छोटे-छोटे सेक्टरों की जिम्मेदारी दी गई है. इन सब के अलावा पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह खुद ओवल ऑल मॉनीटरिंग कर रहे हैं.

चुनावी जीत हार को लेकर पूर्व मंत्री और भिलाई-चरौदा नगर निगम के प्रभारी बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस की सरकार पूरी तरह से दिवालिया हो गई है. काम करने के लिए इनके पास पैसे नहीं है. ऐसे में बीते तीन सालों से प्रदेशभर में कुछ काम नहीं हुआ है. जनता उब चुकी है और बीजेपी पर भरोसा करते हुए उन्हें आशीर्वाद देगी.

Tags: Chhattisgarh news, Chhattisgarh news live, Durg news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर