पैसों की लालच में हुआ था मौलिक साहू का अपहरण, इस करीबी ने रची थी साजिश

Mithilesh Thakur | News18 Chhattisgarh
Updated: August 22, 2019, 4:01 PM IST
पैसों की लालच में हुआ था मौलिक साहू का अपहरण, इस करीबी ने रची थी साजिश
दुर्ग के बोरसी क्षेत्र से मासूम मौलिक साहू के अपहरण मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है.

दुर्ग (Durg) के बोरसी क्षेत्र से मासूम मौलिक साहू के अपहरण मामले में पुलिस (Police) ने खुलासा कर दिया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दुर्ग जिले के बोरसी से 5 साल के बच्चे मौलिक साहू (Maulik Sahu) का अपहरण (Kidnapping) करने वाले आरोपियों को आखिरकार पुलिस (Police) ने गिरफ्तार करने का दावा किया है. अपहरण करने वाला मास्टरमाइंड मौलिक साहू के पिता चन्द्रशेखर साहू का नजदीकी दोस्त (Friend) ही निकला है, जिसने अपहरण की पूरी वारदात (Crime) की योजना बनाई. इस मामले के 5 आरोपियों में से चार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें एक महिला भी शामिल है. वहीं एक अन्य फरार की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है.

दुर्ग (Durg) के बोरसी क्षेत्र से मासूम मौलिक साहू के अपहरण मामले में पुलिस (Police) ने खुलासा कर दिया है. बीते 20 अगस्त की सुबह मासूम का अपहरण हुआ था. दुर्ग पुलिस ने गुरुवार को आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. दुर्ग पुलिस ने आज एक पत्रकारवार्ता लेकर इस पूरे मामले का खुलासा किया. पुलिस के अनुसार इस पूरे अपहरण की वारदात को पांच लोगों ने मिलकर अंजाम दिया था.

कभी घर का ड्राइवर था आरोपी
दुर्ग रेंज के आईजी हिमांशु गुप्ता ने बताया कि इस मामले का मास्टरमाइंड राज कुमार मौलिक साहू के पिता चंद्रशेखर साहू का न सिर्फ अच्छा दोस्त था. बल्कि वो घर कभी कभी वाहन चलाने का काम भी करता था. खास दोस्त होने की वजह से उसे चंद्रशेखर द्वारा पिछले दिनों 1 करोड 20 लाख रुपये की पुस्तैनी जमीन बेचने की भी जानकारी थी. तभी से आरोपी ने अपराध की योजना तैयार करनी शुरू कर दी थी.

डेढ़ महीने पहले से साजिश
पुलिस के मुताबिक आरोपी ने करीब डेढ़ महीने से अपहरण की साजिश रच रहा था. इसी क्रम में 20 अगस्त को अपहरण की घटना को अंजाम दिया गया. इस मामले का फरार आरोपी चार अपने साथियों से दूरी बनाए रखा हुआ था और तमाम जानकारी उपलब्ध करा रहा था. बच्चे का अपहरण राजकुमार ने अपने साथी रुकेंद्र सिन्हा, हेमू साहू के साथ मिलकर किया. हेमू ने स्कूल वैन चालक से विवाद किया. राजकुमार ने बच्चे को इसी दौरान उठा लिया और पहले से ही अपाचे बाइक को चालू कर रखे रुकेंद्र के साथ तीनों भाग गए. फिर कुछ दूरी के बाद उन्होंने हेमू को उतार दिया और वे विभिन्न स्थानों से होते हुए दुर्ग की सीमा से लगे राजनांदगांव जिले के मगरलोटा पहुंच गए. जहां रुपेंद्र की पत्नी बच्चे की देखरेख के लिए पहले से ही तैयार थी.

ये भी पढ़ें: व्यापमं को फिर से जारी करनी पड़ सकती है इस परीक्षा की मेरिट लिस्ट, HC ने दिए ये आदेश 
Loading...

ये भी पढ़ें: बीजापुर में स्टेट हाईवे पर मिली युवक की लाश, हत्या का केस दर्ज 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुर्ग से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 4:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...