भिलाई में डेंगू: अब तक दस की मौत, तीन चीनी इंजीनियर सहित 250 से अधिक बीमार

डेंगू की चपेट में भिलाई इस्पात संयंत्र में एक प्रोजेक्ट के सि​लसिले में चीन से आए तीन नागरिक भी आ गए हैं. तीनों चीनी नागरिकों का रायपुर के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

News18Hindi
Updated: August 10, 2018, 12:09 PM IST
भिलाई में डेंगू: अब तक दस की मौत, तीन चीनी इंजीनियर सहित 250 से अधिक बीमार
Demo Pic.
News18Hindi
Updated: August 10, 2018, 12:09 PM IST
छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के भिलाई में डेंगू के प्रकोप को रोकने सरकारी तंत्र पूरी तरह फेल नजर आ रहा है. भिलाई में डेंगू से पीड़ित पांच लोगों की मौत बीते 20 घंटों में हुई है. इसके साथ इस बारिश में डेंगू प्रभावित मौतों का आंकड़ा दस पहुंच गया है. इसके साथ ही भिलाई के अलग-अलग अस्पतालों में 250 से अधिक डेंगू पीड़ित इलाज करा रहे हैं. जबकि 300 से अधिक डेंगू संदिग्ध मरीज भी पाए गए हैं.

डेंगू की चपेट में भिलाई इस्पात संयंत्र में एक प्रोजेक्ट के सि​लसिले में चाइना से आए तीन नागरिक भी आ गए हैं. तीनों चीनी नागरिकों का रायपुर के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है. उन्हें डेंगू की पुष्टि होने पर बीते गुरुवार को रायपुर के अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. भिलाई स्टील प्लांट के स्टील मेल्टिंग शॉप में काम के लिए दस चीनी इंजीनियरों की टीम भिलाई में रह रही है. भिलाई के सूर्या विहार में टीम ठहरी है. इसमें से ही तीन को डेंगू हो गया है.

प्रशासनिक लापरवाही के चलते भिलाई में डेंगू पूरी तरह बेलगाम हो गया है.
30 जुलाई से अब तक डेंगू से भिलाई में 10 लोगों की मौत हो चुकी है. हालत ये है कि भिलाई डेढ़ साल से सफाई ठेका न होने से सफाई कलेक्टर दर पर हो रही है. डेंगू से सबसे अधिक प्रभावित खुर्सीपार है. घनी आबादी वाले इस क्षेत्र में नालियां तो हैं, लेकिन निकासी की व्यवस्था नहीं है.

यह भी पढ़ें: डेंगू से बचाव के लिए अपनाएं ये आसान उपाय

बीते 20 घंटों में डेंगू से मरने वालों में सात वर्षीय दिनेश दलाई, 22 वर्षीय टोमेंद्र सेन, 13 वर्षीय मिमांसा साकरे, पांच वर्षीय प्रियंका प्रसाद और 25 वर्षीय शीला देवी शामिल हैं. ये पांचों खुर्सीपार क्षेत्र की ही निवासी थे. इसके अलावा जिन पांच लोगों की मौत भिलाई में डेंगू से हुई है, उनमें से तीन ​खुर्सीपार क्षेत्र व एक इससे लगे हुए छावनी के रहने वाले थे. इतनी मौतों के बाद अब प्रशासन जागा है और भिलाई में डेंगू के लार्वा को खत्म करने वाली दवाइयों व कीटनाशकों का छिड़काव करवाया जा रहा है.

भिलाई नगर निगम के महादौप देवेन्द्र यादव का कहना है कि पिछले 15 दिन से डेंगू को लेकर निगम व जिला प्रशासन को सचेत कर रहा हूं, लेकिन अफसर ध्यान नहीं दे रहे हैं. बता दें कि डेंगू के ज्यादा मरीज भिलाई इस्पात संयंत्र के टाउनशिप एरिया में मिले हैं. ऐसे में संयंत्र प्रबंधन ने भी डेंगू से बचाव के लिए कवायद शुरू कर दी है, लोगों को भी सावधानी बरतने के लिए कहा गया है.

कोरिया में अब तक दो की मौत
डेंगू का प्रकोप भिलाई के साथ ही कोरिया जिले में भी बढ़ रहा है. यहां इस बारिश सीजन में अब तक दो ​लोगों की मौत डेंगू से हो चुकी है. ताजा मामला बैकुंठपुर के खरवत का है. यहां शुक्रवार को 11वीं क्लास की छात्रा की डेंगू से रायपुर में मौत हो गई. छात्रा को रायपुर इलाज के लिए लाया गया था. इससे पहले कोरबा निवासी एक युवक को कोरिया में डेंगू हो गया था. इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई थी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर