लाइव टीवी

लोकसभा चुनाव 2019: इस सीट पर भाई और बहन में मुकाबला, साख पर है चाचा की 'नाक'
Durg News in Hindi

निलेश त्रिपाठी | News18Hindi
Updated: April 1, 2019, 12:52 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019: इस सीट पर भाई और बहन में मुकाबला, साख पर है चाचा की 'नाक'
Election Demo Pic.

छत्तीसगढ़ में हाई प्रोफाइल लोकसभा सीट दुर्ग में बीजेपी से विजय बघेल और कांग्रेस से प्रतिमा चंद्राकर प्रत्याशी हैं. दोनों रिश्ते में मुहबोले भाई और बहन हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 1, 2019, 12:52 PM IST
  • Share this:
लोकसभा चुनाव 2019 में परिवारवाद और वंशवाद की राजनीति भी बड़ा मुद्दा है. एक ही परिवार के लोगों टिकट देने का मुद्दा हर समय राजनीति में चर्चा का विषय बना रहता है, लेकिन छत्तीसगढ़ में एक ऐसी सीट है, जहां रिश्ते में मुहबोले भाई और बहन ही एक दूसरे के सामने हैं. इतना ही नहीं इस सीट से भाजपा प्रत्याशी के पारिवारिक रिश्ते में चाचा की साख कांग्रेस प्रत्याशी को हर हाल में जीत दिलाने के लिए दांव पर है.

छत्तीसगढ़ में हाई प्रोफाइल लोकसभा सीट दुर्ग में बीजेपी से विजय बघेल और कांग्रेस से प्रतिमा चंद्राकर प्रत्याशी हैं. दोनों रिश्ते में मुहबोले भाई और बहन हैं. दुर्ग जिला मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का गृह जिला है और उनका विधानसभा सीट पाटन भी दुर्ग संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है. भूपेश बघेल पारिवारिक रिश्ते में विजय बघेल के चाचा हैं. इस सीट पर भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है.

विजय बघेल.

भाजपा प्रत्याशी विजय बघेल ने दुर्ग में एक न्यूज चैनल के डिबेट शो में कहा कि चुनाव में मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है. प्रत्याशियों में मुकाबला इसलिए नहीं हो सकता क्योंकि प्रतिमा चन्द्राकर मेरी बहन हैं और ये रिश्ता वर्षों पुराना है और आगे भी बरकार रहेगा. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पारिवारिक रिश्ते में मेरे चाचा हैं. विजय बघेल ने कहा कि दुर्ग ही नहीं छत्तीसगढ़ की सभी सीटों पर जनता भाजपा के साथ है और जीत भी मिलेगी.



रायपुर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का स्वागत करते मुख्यमंत्री भूपेश बघेल. फाइल फोटो.




इसलिए दांव पर है साख
दुर्ग लोकसभा सीट मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित पूरी कांग्रेस के लिए साख का विषय है. क्योंकि दुर्ग संसदीय क्षेत्र के विधानसभा सीट दुर्ग ग्रामीण से विधायक ताम्रध्वज साहू, साजा विधायक रविन्द्र चौबे और अहिवारा विधायक गुरु रूद्र कुमार प्रदेश सरकार में मंत्री हैं. इसके अलावा साल 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने सूबे की 11 में से जो एकमात्र सीट कांग्रेस ने जीती थी, वो दुर्ग ही थी. ऐसे में इस सीट से जीत कांग्रेस के लिए साख का विषय बनी हुई है. साल 2008 के विधानसभा चुनाव में विजय बघेल भूपेश बघेल और साल 2013 के विधानसभा चुनाव में भूपेश बघेल ने विजय बघेल को हराया था.

प्रतिमा चन्द्राकर.


दोनों प्रत्याशियों के साथ ये भी इत्तेफाक
दुर्ग सीट के भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशियों के साथ एक और इत्तेफाक है. विधानसभा चुनाव 2018 में पाटन सीट से भाजपा ने विजय बघेल की टिकट काट दी थी. इसी तरह दुर्ग ग्रामीण सीट से कांग्रेस ने प्रतिमा चन्द्राकर को टिकट देकर वापस ले ली और इस सीट से सांसद ताम्रध्वज साहू को मैदान में उतारा. अब लोकसभा चुनाव में भाजपा ने विजय बघेल तो कांग्रेस ने प्रतिमा चंद्राकर को टिकट देकर कुर्मी समाज को साधने का प्रयास किया है. कांग्रेस की प्रत्याशी प्रतिमा चंद्राकर जरूर यह स्वीकार करती हैं कि चुनाव काफी फायटिंग वाला रहेगा, लेकिन आम मतदाता कांग्रेस के साथ रहेंगे.
ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: दुर्ग में हावि रहेगा का कास्ट फैक्टर, जातिगत समीकरण साध रही पार्टियां 
ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस के वादे ‘अप्रैल फूल’ की तरह- केदार कश्यप 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुर्ग से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2019, 12:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading