Home /News /chhattisgarh /

madhuri sarathi daughter of auto rickshaw driver secured 8th rank in chhattisgarh 12th board exam nodps

पिता ने रिक्शा खींचा और मां ने घर-घर धोए बर्तन, बेटी ने बोर्ड परीक्षा गाढ़े झंडे, अब हो रही तारीफ

माधुरी की मां घर-घर जाकर बर्तन मांझती हैं और पिता रिक्शा चलाकर घर का खर्च चलाते हैं.

माधुरी की मां घर-घर जाकर बर्तन मांझती हैं और पिता रिक्शा चलाकर घर का खर्च चलाते हैं.

छत्तीसगढ़ बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम शनिवार को जारी कर दिए गए. इस परीक्षा में कुछ टॉपर्स ने सरकारी स्कूलों में पढ़ाई कर प्रदेश के टॉप-10 में जगह बनाई है. 12वीं बोर्ड के कॉमर्स ग्रुप में 8वां स्थान हासिल करने वाली माधुरी सारथी ने भी गांव के सरकारी स्कूल से पढ़ाई की है. माधुरी ने बिना अच्छे संसाधनों के लग्न से पढ़ाई की और यह मुकाम हासिल किया. माधुरी की मां घरों में बर्तन मांझती हैं और पिता रिक्शान चलाते हैं.

अधिक पढ़ें ...

दुर्ग. छत्तीसगढ़ 12वीं बोर्ड परीक्षा (Chhattisgarh Board of Secondary Education Results) के कॉमर्स ग्रुप में प्रदेशभर में 8वां स्थान हासिल करने वाली माधुरी सारथी ने ने ये साबित कर दिया कि हौसले के आगे सब कमजोर है. बेहद गरीबी और दुर्लभ परिस्थितियों में पढ़ने वाली माधुरी की मां घर-घर जाकर बर्तन मांझती हैं और पिता रिक्शा चलाकर घर का खर्च चलाते हैं. शनिवार को जारी छत्तीसगढ़ 12वीं बोर्ड के परिणाम के अनुसार कॉमर्स ग्रुप में माधुरी ने 470 अंक हासिल कर मेरिट 8वां स्थान हासिल किया है. माधुरी ने अपनी सफलता का श्रेय अपने परिवार और निशुक्ल ट्यूशन पढ़ाने वाली शिक्षिका को दिया है. माधुरी ने दुर्ग जिले के तकियापारा सरकारी स्कूल से 12वीं की पढ़ाई की है. उज्जवल भविष्य की पहली सीढ़ी पर नाम करने वाली माधुरी की उपलब्धि पर माता-पिता की आंखों में खुशी के आंसू है.

विपरीत परिस्थियों को हराकर हासिल किया स्थान
माधुरी सारथी ने अपनी पढ़ाई किसी हाई-फाई प्राइवेट स्कूल से नहीं बल्कि गांव के ही सरकारी स्कूल से की है. माधुरी ने अपने पड़ोस की ही एक शिक्षिका से मुफ्त में ट्यूशन लिया है. आज माधुरी की उपलब्धि पर पूरे गांव को गर्व है. आर्थिक दिक्कतों के कारण अच्छे स्कूलों में और अच्छी ट्यूशन्स ना मिलने के बाद भी माधुरी ने यह मुकाम हासिल किया है. माधुरी के टॉप 10 में जगह बनाने की खबर के बाद गांव में खुशी का माहौल है. माधुरी ने परिजनों ने कहा कि बेटी की उपलब्धि पर गर्व है.

संसाधनों के अभाव में भी माधुरी ने लग्न से पढ़ाई की और प्रदेश में 8वां स्थान हासिल किया है. बता दें कि शनिवार को छत्तीसगढ़ बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट घोषित किया गया था. सीजीबीएसई यानी छत्तीसगढ़ बोर्ड 10वीं परीक्षा में कुल 74.23 प्रतिशत छात्र पास उत्तीर्ण हुए हैं. लड़कियों का उत्तीर्ण प्रतिशत लड़कों की तुलना में अधिक है. 78,84 प्रतिशत लड़कियों ने परीक्षा पास की है. वहीं 12वीं के लिए कुल पास प्रतिशत 79.30 फीसदी है. 10वीं परीक्षा में इस साल सुमन पटेल और सोनाली बाला ने टॉप किया है. दोनों ने 98.67 फीसदी अंक आए हैं. 12वीं में बालोद जिले में रहने वाले रितेश ने टॉप किया है. रितेश साहू सरकारी स्कूल के छात्र हैं.

Tags: Chhattisgarh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर