'ग्रामीणों को भी निशाना बना रहे है माओवादी'

छत्तीसगढ़ में रविवार को नारायणपुर के अमदई घाट में पुलिस और माओवादियों के बीच हुए मुठभेड़ मामले में पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने प्रेसवार्ता कर बताया कि अब माओवादी पुलिस के साथ ही ग्रामीणों को भी निशाना बना रहे है.

छत्तीसगढ़ में रविवार को नारायणपुर के अमदई घाट में पुलिस और माओवादियों के बीच हुए मुठभेड़ मामले में पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने प्रेसवार्ता कर बताया कि अब माओवादी पुलिस के साथ ही ग्रामीणों को भी निशाना बना रहे है.

छत्तीसगढ़ में रविवार को नारायणपुर के अमदई घाट में पुलिस और माओवादियों के बीच हुए मुठभेड़ मामले में पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने प्रेसवार्ता कर बताया कि अब माओवादी पुलिस के साथ ही ग्रामीणों को भी निशाना बना रहे है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में रविवार को नारायणपुर के अमदई घाट में पुलिस और माओवादियों के बीच हुए मुठभेड़ मामले में पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने प्रेसवार्ता कर बताया कि अब माओवादी पुलिस के साथ ही ग्रामीणों को भी निशाना बना रहे है. जिसके चलते कल पुलिस और माओवादियों के बीच हुई गोली बारी में माओवादियों की गोली से निक्को कंपनी में कार्य कर रहे दो सुपरवाइजरों की मौत हो गई है.



वहीं पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गंभीर रुप से घायल जवान अब खतरे से बाहर है और माओवादियों की ओर से लगाए गए विस्फोट के चपेट में आने से जवान घायल हुआ था.



पुलिस अधीक्षक ने पूरे मामले की जानकारी प्रेसवार्त कर मिडिया को दी, वहीं घटना के बाद से अमदई खदान के सड़क निर्माण का कार्य बंद पड़ा हुआ है.





आपको बता दें कि नारायणपुर जिले के छोटे डोंगर के पास अमदई घाट में निक्को कंपनी के कर्मचारियों पर नक्सलियों ने घात लगाकर हमला कर दिया. जिसमें कंपनी के दो सुपरवाइजरों की मौत हो गई है और 2 पुलिस के जवान घायल हो गए हैं.
मिली जानकारी के मुताबिक लौह अयस्क खनन के लिए पहाड़ पर सड़क निर्माण का काम चल रहा था. रोज की तरह रविवार भी निक्को कंपनी के कर्मचारी और उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस के जवान सुबह अमदई घाट पर जा रहे थे. उसी दौरान 25 से 30 की संख्या में घात लगाकर बैठे माओवादियों ने पुलिस और निक्को कंपनी के कर्मचारियो के ऊपर 6 ब्लास्ट कर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी.



जिसकी चपेट में आने से निक्को कंपनी के दो सुपरवाइजरों की मौत मौके पर हो गई और जिला पुलिस बल के दो जवान भी घायल हो गए. वहीं घायल जवानों को इलाज के लिए नारायणपुर के जिला अस्पताल में लाया गया है.



मृतक सुपरवाइजरों के शव को छोटेडोंगर में ले जाया गया है. पुलिस ने नक्सलियों की तलाश में सर्च अभियान शुरू कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज