छत्‍तीसगढ़ में नक्‍सली समस्‍या काफी बढ़ गई है : नंद कुमार साय

Mithilesh Thakur | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 13, 2017, 3:40 PM IST
छत्‍तीसगढ़ में नक्‍सली समस्‍या काफी बढ़ गई है : नंद कुमार साय
मीडिया से चर्चा करते हुए नंद कुमार साय.
Mithilesh Thakur | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 13, 2017, 3:40 PM IST
राष्‍ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंद कुमार साय अपने एक दिवसीय प्रवास पर शनिवार को दुर्ग पहुंचे. इस दौरान उन्‍होंने जिले के प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक लेकर जिले में अनूसूचित जनजाति के लिए आरंभ की गई केंद्र और राज्य की योजनाओं की समीक्षा की और अधिकारियों को योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही नहीं बरतने की हिदायत दी.

बैठक के बाद नंद कुमार साय ने पत्रकारों से चर्चा की. नक्सली समस्या के संबंध में पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में उन्‍होंने यह स्वीकार किया कि प्रदेश में नक्सली समस्या काफी बढ़ गई है, जिसके जिम्मेदार वे लोग स्वयं हैं. उन्होंने कहा कि फिर भी जिस स्थिति‍ में बस्तर खड़ा है, वहां के लोगों को विश्वास में लेकर न सिर्फ समाधान खोजना है, बल्कि वहां के युवाओं को साथ लेकर उन्‍हें नए भारत के निर्माण में सहभागी बनाना है.

नंद कुमार साय ने नक्सली समस्या पर कहा कि पीड़ि‍त, प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को एक साथ मिलकर नक्सलियों से लड़ाई लड़ना होगी. उन्होंने निर्दोष आदि‍वासियों के मारे जाने संबंधी सोशल मीडिया में पोस्ट का समर्थन करते हुए कहा कि यदि हर आदि‍वासी को नक्सली माना जाता है, तो हम भी तो नक्सली हुए.

नंद कुमार साय ने रक्षाबंधन के दिन पालनार में सीआरपीएफ जवानों द्वारा बच्चियों के साथ छेड़छाड़ की घटना की भी निंदा की और अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए जाने की बात कहीं ताकि इस तरह की घटना दोबारा न हो. प्रदेश के नेतृत्व संबंधी प्रश्न के जवाब में नंद कुमार साय ने कहा कि यह

आलाकमान तय करता है. जब उनसे आदि‍वासी मुख्यमंत्री की मांग और उनके मुख्यमंत्री बनने की अटकलों पर प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहा कि संभावनाओं के प्रश्न का जवाब नहीं दिया जा सकता.
First published: August 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर