नितिन गडकरी बोले- पेट्रोल 55, तो डीजल की कीमत हो जाएगी 50 रुपये, अगर...

नितिन गडकरी ने कहा- हमने फैसला किया है कि एथेनॉल, बायो डीज़ल, मेथेनॉल और बायो फ्यूल से चलने वाले ऑटो रिक्शा, बस, और टैक्सी के लिए परमिट की अनिवार्यता खत्म कर देंगे.

भाषा
Updated: September 11, 2018, 1:37 PM IST
नितिन गडकरी बोले- पेट्रोल 55, तो डीजल की कीमत हो जाएगी 50 रुपये, अगर...
नितिन गडकरी (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: September 11, 2018, 1:37 PM IST
केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ पूरे देश के लिए जैव ईंधन का बड़ा केन्द्र बन सकता है. केन्द्रीय मंत्री गडकरी और मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सोमवार को निर्माण कार्यों के लिए राज्य को 4,251 करोड़ की सौगात दी. गडकरी ने सोमवार को दुर्ग जिले के चरौदा नगर में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि छत्तीसगढ़ पूरे देश के लिए जैव ईंधन का बड़ा केन्द्र बन सकता है.

गडकरी ने बताया, "नागपुर में लगभग एक हजार ट्रैक्टर जैव ईंधन से चल रहे हैं. आज आवश्यकता जैव ईंधन के क्षेत्र में रिसर्च करने की है." उन्होंने कहा कि हमने अभी पेट्रोल में एथनॉल मिलाकर वाहन चलाने का सफल प्रयोग किया है, इसे और अधिक बढ़ावा दिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में कृषि क्षेत्र में वृद्धि दर बहुत अच्छी है. यहां चावल, गेहूं, दालें और गन्ने का उत्पादन काफी मात्रा में होता है लेकिन राज्य जैव ईंधन के रूप में भी आगे बढ़ सकता है. छत्तीसगढ़ में उत्पादित जेट्रोफा जैव ईंधन का इस्तेमाल पहली जैव ईंधन से उड़ने वाले विमान में किया गया. यह विमान देहरादून से दिल्ली पहुंचा.

ये भी पढ़ेंः गडकरी ने वाहन उद्योग से कहा, मानसिकता बदलो, भविष्य के बारे में सोचो

गडकरी ने कहा कि हम आठ लाख करोड़ रुपये के पेट्रोल और डीज़ल आयात कर रहे हैं और इसकी कीमतें बढ़ रही हैं. रुपया डॉलर के मुकाबले गिर रहा है. मैं पिछले 15 सालों से कह रहा हूं कि देश के किसान, आदिवासी और वनवासी एथनॉल, मेथेनॉल, जैव ईंधन का उत्पादन कर सकते हैं और विमान उड़ा सकते हैं.

उन्होंने कहा, "हमने फैसला किया है कि एथेनॉल, बायो डीज़ल, मेथेनॉल और बायो फ्यूल से चलने वाले ऑटो रिक्शा, बस, और टैक्सी के लिए परमिट की अनिवार्यता खत्म कर देंगे."

पेट्रोल और डीज़ल की बढ़ती कीमतों के बारे में ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कि देश में पेट्रोलियम मंत्रालय पांच एथनॉल के प्लांट स्थापित कर रहा है, जहां एथनॉल का उत्पादन धान और गेहूं की भूसी, बांस और गन्ने से किया जाएगा. इससे पेट्रोल 55 रुपये और डीज़ल 50 रुपये में उपलब्ध होगा.  केन्द्रीय मंत्री ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि केन्द्र सरकार ने पिछले चार बरसों में छत्तीसगढ़ सरकार को सड़क निर्माण के लिए लगभग 35 हजार करोड़ रूपए दिए हैं और अब सड़कों के लिए और 40 हज़ार करोड़ रूपए दिए जाएंगे. उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने वर्ष 2000 में छत्तीसगढ़ सहित तीन नए राज्य बनाए थे, इनमें छत्तीसगढ़ तेजी से विकास कर रहा है.

ये भी पढ़ेंः पटना-बनारस के बीच एक्सप्रेस हाई वे, नीतीश-गडकरी मुलाकात में बनी सहमति

इस दौरान मुख्यमंत्री रमन सिंह और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने चरौदा नगर में 4,251 करोड़ रूपए के आठ निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया. उन्होंने मनरेगा मजदूर टिफिन योजना के अंतर्गत 25 हजार श्रमिकों के लिए को टिफिन वितरण का भी शुभारंभ किया. इन्हें मिलाकर विभिन्न योजनाओं के 25 हजार 824 लाभार्थियों के लिए 72.99 लाख रूपए का सामान और सहायता राशि को बांटने की शुरुआत हुई.

समारोह में मुख्यमंत्री के कहने पर गडकरी ने 2,218 करोड़ की लागत से 442 किलोमीटर की पांच सड़कों तथा चार बाईपास मार्ग को बेहतर बनाने और पांच नए बाईपास के निर्माण की स्वीकृति की घोषणा की.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर